दवा के बिना बुखार कैसे कम करें? घरेलू नुस्खे!

जब कभी भी किसी बच्चे को बुखार आता है, तो बहुत से लोग फौरन दवाई के डिब्बे की ओर भगते है और कोई भी बुखार की दवाई निकाल कर दे देते हैं। बच्चों को इन सब केमिकल्स को निगलने के लिए मजबूर करने से पहले, बुखार कम करने के लिए कुछ बढ़िया एवं प्राकृतिक घरेलू नुस्खो को अपनाने का प्रयास करें। मरीज के बुखार से पीड़ित होने पर मरीज के शरीर में पानी की अधिकता और स्वच्छ रखना न भूलें, बुखार एक या दो दिन में उतर जायेगा।

हम अब आपको कुछ उपाय बताने जा रहे है!
जो आपको बुखार में उपयोगी साबित:-

• मोजे को गीला करके उन्हें एड़ियों में पहिनना अजीब लगता है, पर बच्चों के तेज बुखार को कम करने के लिए यह अद्भुत उपाय है। एक जोड़ी सूती के मोजे लें जो बच्चे की एड़ियों को ढकने लायक लम्बेे हो, मोजे को ठंडे पानी में ठीक से गीला कर लें और अतिरिक्त पानी को निचोड़कर मोजों को बच्चे के पैरों पर रख दें और जब मोजे सूख जायें तो इस प्रक्रिया को दोहरायें।

• बुखार पीड़ित व्यक्ति या बच्चे के सिर और गर्दन को ठंडा करें। बहुत तेज बुखार के लिए, एक बड़ा सूती कपड़े को पानी में अच्छी तरह से भिगोये व अतिरिक्त पानी को निचोड़ कर अलग कर दें। कपड़े को बच्चे या व्यंक्ति के सिर और गर्दन के चारों ओर लपेटें दें तथा जब कपड़ा सूख जाए, तो इसे दोहरायें।

• दो वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिये सोने से पहले बच्चें के पूरे शरीर को जैतून के तेल से मालिश करके बच्चेंल को अच्छी तरह से सूती कपड़े और एक कंबल में लपेट दें। तेल को हटाने के लिए बच्चेंल को सुबह नहला दें। यह उपाय गीले मोजे के साथ अच्छी तरह से काम करता है।

• बुखार से पीडि़त मरीज को पानी का सेवन बहुत करवायें, अधिक ताप का मतलब पानी की कमी है। पानी की कमी न होने दें, खासकर दस्त या उल्टी होने पर, क्योंकि इससे शरीर में पानी की कमी हो जाती है।

• बुखार से पीडित व्यक्ति/बच्चें को मोटे कपड़े न पहिनाये, हल्के कपड़े पहिनाये, कंबल न लपेटें चाहे कितनी भी ठंड ही क्यों न लग रही हो, क्योंकि इससे आपके शरीर के तापमान में वृद्धि होगी।

• इमली का रस, एलो वेरा जेल या अमरूद की पत्ती के रस का उपयोग करके शरीर के तापमान को तेजी से कम किया जा सकता है। रस को माथे पर लगायें, इसे सूखने दें और फिर लगायें, जब तक कि आपके शरीर के तापमान में कमी न हो जाये।




Related...



COMMENTS

Leave a Reply