Wednesday, December 12
Home>>Health Care>>Heartburn की समस्‍या में घरेलू उपचार!!
Heartburn Home Remedies in Hindi
Health Care

Heartburn की समस्‍या में घरेलू उपचार!!

हार्टबर्न की समस्‍या पेट में बनने वाले एसिड की वजह से पैदा होती है। इस दौरान सीने या गले में जलन और गले में दर्द, खट्टी डकार आना, उल्‍टी का मन करना, पेट में भारीपन लगना जैसे समस्‍याएं होने लगती है। वैसे तो यह समस्‍या एक ही समय में जरूरत से ज्‍यादा भोजन करने की वजह से होती है। इसके अलावा शरीरिक रूप से सक्रिय रहना, बेवक्‍त खाना, खाने के तुरंत बाद सो जाना, मसालेदार भोजन, सॉफ्ट ड्रिंक्‍स, प्रिजरवेटिव, जंक फूड आदि के सेवन भी शरीर में एसिड का लेवल बढ़ जाता है। इसलिए खानपान की आदतों को स्‍वस्‍थ रखने के साथ ही हार्टबर्न की समस्‍या होने पर इन घरेलू उपायों को आजमाएं।

ऐलोवेरा का जूस:- बहुत से लोगों का मानना है कि एलोवेरा का उपयोग सनबर्न के लिए किया जाता है लेकिन हार्टबर्न जैसी समस्‍याओं को दूर करने में भी एलोवेरा का जूस बहुत फायदेमंद होता है। यह इंफ्लेमेशन को दूर करने में असरदार होता है। यदि आपको अक्‍सर खाना खाने के बाद हार्टबर्न की समस्‍या हो जाती है तो खाना खाने के 20 मिनट पहले एक चौथाई एलोवेरा का जूस पीने से आराम मिलेगा। एक दिन में एलोवेरा के जूस को बहुत ज्‍यादा नहीं पीएं, नहीं तो पेट दर्द और डायरिया की समस्‍या हो सकती है।

काम का है बेकिंग सोडा:- हार्टबर्न की समस्‍या से तुरंत राहत पाने के लिए बेकिंग सोडा भी महत्‍वपूर्ण होता है। इसे सोडियम बाईकार्बोनेट के नाम से जाना जाता है। एक गिलास पानी में एक छोटा चम्‍मच बेकिंग सोडा मिलाकर पीने से आराम मिलेगा। इसमें नमक की मात्रा ज्‍यादा होती है इसलिए इसका ज्‍यादा सेवन नहीं करना चाहिए।

सेब का सिरका :- एपल साइडर विनेगर को भी हार्टबर्न की समस्‍या में बहुत कारगर नुस्‍खा माना जाता है। यह पेट में एसिड के लेवल को बढ़ने से रोकता है। एक कप पानी में एक या दो चम्‍मच एपल साइडर विनेगर को मिलाकर पीने से आराम मिलेगा। इसका सेवन खाना खने से पहले किया जाता चाहिए।

हाटर्बर्न में सौंफ भी हो सकती है कारगर:- हार्टबर्न की समस्‍या को दूर करने में सौंफ को भी कारगर माना जाता है। यह पाचन संबंधी समस्‍याओं को दूर करने में असरदार होती है। साथ ही यह शरीर में बहुत ज्‍यादा एसिड को भी बनने से रोकती है। दरअसल, सौंफ ऐन्‍टैसिड और एंटी-इंफ्लेमेटरी की तरह काम करती है। इस तरह अपच और एसिडिटी की समस्‍या दूर होती है। हाटर्बर्न की समस्‍या होने पर एक कप पानी को उबालें और उसमें एक बड़ा चम्‍मच दरदरी सौंफ को मिलाकर 5 मिनट तक रखा रहने दें। इसेछानकर इसमें दो बड़ा चम्‍मच नींबू रस औश्र एक बड़ा चम्‍मच शहद मिलाकर पीएं।

एक गिलास ठंडा दूध:- दूध में भी एसिड के लेवल को कम करने का गुण होता है। इसलिए हार्टबर्न की समस्‍या होने पर एक गिलास ठंडा दूध पीना कारगर नुस्‍खा है। इसके अलावा यदि दूध उपलब्‍ध न हो पाए तो उसकी जगर डेयरी प्रोडक्‍ट को लेने से भी बॉडी में एसिड के लेवल को कम करने में मदद मिलेगी।

दही और केला खाएं:- हार्टबर्न और पेट की समस्‍याओं को दूर करने के लिए एक-दो गिलास दही की लस्‍सी पीने से आराम मिलेगा लेकिन इसमें शक्‍कर नहीं मिलाएं। इसके अलावा दही में एक केला और थोड़ा सा शहद मिलाकर स्‍मूदी तैयार करें। दिन में दो बार इस स्‍मूदी को खाने से हार्टबर्न की प्रोब्‍लम दूर होगी।

दालचीनी की चाय:- दालचीनी मे एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटी स्‍पैज्‍माडिक प्रोपर्टीज होती है। इस तरह हार्ट बर्न की प्रोब्‍लम में यह उपयोगी होती है। एक कप पानी को उबाले और उसमें एक छोटा चम्‍मच दालचीनी का पाउडर मिलाकर 10 मिनट रख दें।इसके बादर एक बड़ा चम्‍मच शहद मिलकर पीने से आराम मिलेगा।

सेब और पपीता:- पपीता में प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट बहुत प्रभावी होता है। यह मेटाबॉलिज्‍म को बूस्‍ट कर इंफ्लेमेशन को कम करने का काम करता है। हार्टबर्न की समस्‍या रहने में पपीता का सेवन करना फायदेमंद होता है। इसी तरह सेब खाने से पेट में पीएच लेवल बैलेंस रहता है।


Heartburn Meaning in Hindi, Heartburn How to Cure, Treatment at Home in Hindi, Heartburn Home Remedies in Hindi, Heartburn Ke Gharelu Nuskhe Upchar in Hindi



Leave a Reply

error: Content is protected !!