पढ़ें सालों से अपनायी जाने वाली होम रेमेडीज़, घरेलू नुस्खों से कैसे कर सकते हैं असाध्य बीमारियों का ईलाज Home Remedies in Hindi के फायदे, Gharelu Nuskhe in Hindi,

काले चने साबुत या अंकुरित दोनों ही फायदेमंद है। कब्‍ज, डायबिटीज, एनिमिया, हृदय रोगियों के लिए काला चना लाभदायक है तो त्‍वचा निखारता है और कोलेस्‍ट्रॉल का स्‍तर घटाता है। कई शोधों में यह साबित हो गया है कि काले चने का अगर नियमित सेवन किया जाए तो कई बीमारियों से मुक्ति मिल सकती है।
Complete Reading

जानें वायरल बुखार का घरेलू उपचार वर्तमान में अभी मौसमी बुखार से पूरा प्रदेश ग्रसित है। इस वायरस का प्रभाव समाप्‍त होने के बाद होता है। इसमें आयुर्वेद के अनुसार शरीर में कफ पित का प्रकोप होता है। जिससे शरीर का तापमान बढ़ जाता है और मानव मौसमी बुखार (वायरल) की चपेट में आ जाता
Complete Reading

70 फीसदी महिलाओं को यूरिन में इंफेक्‍शन होना आम है। यह स्त्रियों को होने वाली सबसे आम समस्‍या है जिसके कई कारण हो सकते हैं। लक्षणों के रूप में यूरिन करते समय जलन होना, बार-बार यूरिन जाने की इच्‍छा होना, कमर व पीठ के आसपास दर्द होना। ऐसे में सावधानी बरतने के अलावा कुछ घरेलू
Complete Reading

आयुर्वेद के खजाने में एक दवा यानी की हरड़ में कई बीमारियों को मात देने की क्षमता है। इन रोगों में लाभदायक:- त्‍वचा के रोग, गला बैइ जाना, पुराना बुखार, सिर के रोग, आंखों के रोग, खून की कमी, हृदय रोग, पीलिया, शरीर में सोज पड़ना, प्रमेह रोग, उल्‍टी आना, पेट में कीड़े होना, दमा,
Complete Reading

खान-पान में जरा भी गड़बड़ी हमारे पेट की सेहत बिगाड़ सकती है। कुछ घरेलु उपायों के जरिए ऐसी परेशानियों से काफी हद तक राहत पाई जा सकता है। ऐसे बनती है गैस:- खाने या कुछ पीने के साथ जब हम हवा निगल जाते हैं, तो हमारे पाचन तंत्र में गैस बनना शुरू हो जाता है।
Complete Reading

गैस एक आम परेशानी हो गई है। गैस पेट में बदहजमी और कब्‍ज रहने से होती है। इसकी वजह से पेट का फूलना व बेचैनी की शिकायत होने लगती है। खाने-पीने में कूछ चीजों को शामिल करने से गैस से बहुत हद तक छुटकारा पाया जा सकता है। • दालचीनी के इस्‍तेमाल से पेट के
Complete Reading

किसी भी मौसम में त्‍वचा से जुड़ी समस्‍याएं होना सामान्‍य बात है लेकिन इनसे घबराए नहीं। कुछ घरेलू और आसान उपाय अपनाकर इन्‍हें दूर किया जा सकता है। त्‍वचा पर मूली के पत्‍तों का रस लगाने से किसी भी प्रकार की स्किन प्रॉब्‍लम में राहत मिलती है। त्‍वचा पर मौजूद घाव को ठीक करने के
Complete Reading

प्रोटीन की पूर्ति के लिये दाल खाने की सलाह दी जाती है। लेकिन जब बात प्रोटीन के अलावा विटामिंस की हो तो मूंग की दाल एक बेहतर विकल्‍प है। इसमें ए, बी, सी, ई, पोटेशियम, आयरन, कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है। अगर अंकुरित मूंग की दाल खाएं तो शरीर में कुल 30 कैलोरी
Complete Reading

कब्‍ज एक आम समस्‍या बनती जा रही है। लगातार कब्‍ज रहने से आगे जाकर यह गंभीर रूप ले लेती है। सिर भारी होना, जी मचलाना, बुखार सा रहना, मुंह में पानी आने की शिकायत रहने लगती है। कुछ बातों का ख्‍याल रख के कब्‍ज से बचाव किया जा सकता है। न हो पानी की कमी:-
Complete Reading

भारतीय भोजन का प्रमुख अंग है लाल मिर्च। कई लोग समझते हैं लाल मिर्च सेहत के लिए हानिकारक है लेकिन ऐसा नहीं है। लाल मिर्च में पाए जाने वाले तत्‍व सेहत के लिए फायदेमंद है। वजन कम करने में लाल मिर्च सहायक है। लाल मिर्च कैलौरी बर्न करने में मददगार होती है। इसमें ऐसे तत्‍व
Complete Reading

Create Account



Log In Your Account



error: Content is protected !!