लंबाई बढ़ाने के भी हैं कुछ अच्‍छे तरीके!

व्‍यक्तित्‍व को निखारने में हाइट का अहम रोल है। अक्‍सर कम हाइट वाले अपनी हाइट बढ़ाने में लगे रहते हैं। इसकी कमी से आत्‍मविश्‍वास में भी कमी देखी जाती है। पुलिस, मॉडलिंग व अन्‍य में अच्‍छी हाइट का होना जरूरी है। कई बार मानते हैं की लंबाई एक निश्‍चित उम्र तक ही बढ़ती हैं या माता-पिता की हाइट के अनुसार ही बच्‍चों की लंबाई होती है। लेकिन संतुलित-पोष्‍टिक आहार, व्‍यायाम व योग नियमित करने या जीवन शैली में सही आदतें अपनाकर हाइट बढ़ाने में मदद मिलती है।

खानपान में न बरतें लापरवाही!

संतुलित व पोष्टिक खानपान व्‍यक्ति की हाइट व शरीरिक विकास के लिए अहम है। मांस, मछली, सोयाबीन, मूंगफली, दालें आदि में प्रोटीन प्रचुर मात्रा में होता है। जो ग्रोथ हार्मोन के सही स्‍त्रावण में मददगार है। वही कैल्शियम, जिंक फॉस्‍फोरस, मैग्‍नीशियम जैसे खनिज लवणों का नियमित सेवन करें। यह हरी सब्जियों सूखे मेवे, फल, दही, छाछ आदि में भरपूर होता है। साथ ही संतुलित मात्रा में विटामिन-ए, बी, सी, डी व अन्‍य विटामिन का होना जरूरी है। इसके लिए दूध, दही, अंकुरित अनाज, फल, सब्जियां आदि नियमित खाएं। कई बार शरीर का मेटाबॉलिज्‍म बिगड़ने से भी हाइट कम रह जाती है। इसके लिए किसी भी समय की डाइट स्किप न करें।

रेगुलर एक्‍सरसाइज करें!

शरीर को एक्टिव बनाए रखना भी हाइट को बढ़ाएगा। कुछ खास एक्‍सरसाइज के अलावा खेलकूद को भी दिनचर्या में शामिल करें। रोजाना 15-20 मिनट की वॉक, ब्रिस्‍क वॉक या दौड़ लगाएं। इनसे वजन नियंत्रित रहने के साथ पैर, कमर व रीढ़ की हड्डी और मांसपेशियां मजबूत होंगी। रीढ की हड्डी में खिंचाव होने से हाइट भी बढ़ेगी। हफ्ते में 3-4 बार रस्‍सी कूदें। स्‍वीमिंग भी लंबाई बढ़ाने का बेहतरीन जरिया है। यह रक्‍तसंचार को सही कर तनाव के स्‍तर को कम करती है और भूख-प्‍यास बढ़ाती है। कुछ लोग जमीन से लगभग 7 फीट ऊंचे किसी लोहे के पाइप, लकड़ी के डंडे या पेड़ की मोटी डाली को पकड़कर लटक कर अभ्‍यास करते हैं। इससे रीढ़ के अलावा पैर, सीना और पेट की मांसपेशियों की अच्‍छी कसरत हो जाती है। किसी बड़े के साथ इन एक्‍सरसाइज करें करें।

मददगार हैं कुछ योगासन!

आयुवेंद के अनुसार योगासन करने के दौरान मांसपेशियों का अंदरुनी रूप से खिचाव होता है जिससे लंबाई बढ़ती है। योगासनों को करने से सिर से लेकर पैर तक के अंगों पर सकारात्‍मक असर होता है। भुजंगासन, ताड़ासन, सूर्य नमस्‍कार, पश्चिमोत्तासन जैसे योगासनों को डेली रुटीन में शामिल किया जा सकता है।

ताड़ासन के लिए सीधे खड़े होकर हथेलियों को जोड़कर ऊपर की ओर करते हुए एड़‍ियों को उठाते हुए पैर के पंजो के बल शरीर का वजन डाला जाता है।

Tadasana Pose in Hindi
Tadasana Pose in Hindi


भुजंगासन को करने के दौरान पेट के बल लेटकर कमर के अग्र भाग को ऊपर की ओर उठाया जाता है।

Bhujangasana in Hindi
Bhujangasana in Hindi


पश्चिमोत्तासन में जमीन पर बैठकर आगे की ओर झुककर पैरों के अंगूठों को हाथ से पकड़ा जाता है।

Paschimottanasana Asana in Hindi
Paschimottanasana Asana in Hindi


सूर्य नमस्‍कार केवल ऐसा आसन है जो पूरे शरीर के लिए लाभदायक है। इसमें आसन को करने के दौरान शरीर की कम से कम 12 मुद्राएं बनती हैं जो हर अंग के साथ खासतौर पर रीढ की हड्डी, नाडि़यों और मांसपेशियों को फायदा पहुंचाती है।

 Surya Namaskar Steps in Hindi

Surya Namaskar Steps in Hindi


English Summery: How to Increase Height in Hindi, Uchai Badhane Ke Upay Tarike, Lambai Badhane Ke Tarike in Hindi, Height Growth Tips in Hindi, Height Badhane Ke Liye Yoga in Hindi




Related...



Leave a Reply