होठों के श्रृंगार के लिए सिर्फ़ लिपस्टिक से बात नहीं बनेगी!!

Best Lip Makeup Tips in Hindi

होठों के श्रृंगार के लिए सिर्फ़ लिपस्टिक से बात नहीं बनेगी। एक्स्ट्रा शाइन के लिए शिमर, लिपस्टिक स्टेन या ग्लाॅस भी लगाना जरूरी है। को भी महिला डे मेकअप में लिप्स के लिए न्यूट्रल लुक सिलेक्ट कर सकती है। उसे सिफ वो शेड चुनना है जो उसके काॅम्पलेक्शन को और ज्यादा खूबसूरत बनाए। इसे लगाने से आप फ्रैश दिखें न कि आपकी स्किन बहुत ज्यादा पेल व थकी-थकी दिखाई दे। खूबसूरत नैचुरल ग्लो पाने और अपने स्किन टोन को बैलेंस करने के लिए न्यूड लिपस्टिक का परफेक्ट शेड चुनना बहुत जरूरी है। परफेक्ट न्यूट्रल लिप शेड वह है जो आपके स्किन टोन को फलैटर करे और आपको फेयर दिखाए।
आप भी अपने लबों की खूबसूरती में इजाफा किजिए कुछ इस तरह सेः-

क्रीम लिपस्टिक: बहुत रूखे होंठों के लिए क्रीम युक्त लिपस्टिक फायदेमंद होती है। विटामिन ई, एलोवेरा या ग्लिसरीन युक्त लिपस्टिक रूखे होंठों के लिए असरदार है।

मैट लिपस्टिक: मैट लिपस्टिक अपारदर्शी शेड्स में आती है। इस तरह की लिपस्टिक चौडे व बडे मुंहवाली युवतियों पर फबती हैं। इसे लगाने से पहले होंठों पर हल्की सी क्रीम मल लें। जिससे होंठ नमी युक्त हो जाएं व रूखे ना दिखे।

नॉनट्रांसफरेवल लिपस्टिक: इस तरह की लिपस्टिक भले ही मॉइश्चराइजरयुक्त हो, लेकिन लगाने पर होंठ सूखे हुए महसूस होते हैं।

हाई शाइन: लिपस्टिक और लिपग्लॉस एक साथ मिलाकर बनाए जाते हैं, जिन्हें हाई शाइन या ग्लेजवेअर लिपस्टिक कहा जाता है। ये सामान्य लिपग्लॉस की तुलना में होठों पर ज्यादा समय तक टिकती है। ग्लिमरस्टिक, फ्रॉस्ट और शिमर जैसे लिपस्टिक के प्रकार छोटे और गुलाबी रंग के होंठवाली महिलाओं पर खूब फबती है। इससे उनके होंठ भरे-भरे और आकर्षक दिखायी देते हैं।

लिपस्टिक की वैराइटी:-

लिपग्लॉस: यह बिना रंग के और तरह-तरह के फ्लेवरयुक्त होते हैं। होंठों पर लिपस्टिक लगाने के बाद एक्स्ट्रा शाइन के लिए इसका इस्तेमाल होता है। लिपग्लॉस ट्यूब और रोलऑन में भी आती है।

लिक्विट लिपस्टिक: लिक्विड लिपस्टिक और लिपग्लॉस में अंतर है। लिक्विड लिपस्टिक एक तरह से लिपस्टेन होती है, जिसमें वैक्स की तुलना में तेल की मात्रा ज्यादा होती है। इन्हें होंठों पर लगाने के लिए तरह-तरह के एप्लिकेटर इस्तेमाल में लाते हैं। कुछ एप्लिकेटर के ब्रश पर स्पंज लगा होता है, किसी पर सिर्फ ब्रश होता है, तो किसी में दोनों होते हैं। होंठ पतले हैं, तो पतले ब्रुशनुमा एप्लिकेटर का इस्तेमाल करें।

लिपस्टेन: यह एक तरह की लिपस्टिक है, जो टेबलेट के रूप में आती है। इसे स्पंज और ब्रुश की सहायता से लगाया जाता है। एक्स्ट्रा शाइन से लिए लिपग्लॉस भी इसमें मिलाया जाता है।

लिप पेंसिल: लिप पेंसिल सामान्य पेंसिल की तरह ही दिखाई देती है। इसे भी पेंसिल की तरह आसानी से शार्प किया जा सकता है। यह मैट और थोडे चमकीले दोनों रूपों में उपलब्ध है। इसमें वैक्स की मात्रा अधिक होने के कारण क्रेयॉन की तुलना में इसकी टिप ज्यादा कमजोर होती है।

लिप लाइनर: यह लिप पेंसिल की तुलना में मोटी होती है। लिपस्टिक के रंग को ध्यान में रखते हुए इसका चयन करें। ये पेंसिल या पेन दोनों रूप में मिलती है।

लिप क्रेयॉन: लिप क्रेयॉन लिप पेंसिल की तरह दिखाई देते हैं, लेकिन ये लिप पेंसिल की तुलना में पतले होते हैं, इसलिए इन्हें आसानी से पकड कर लगाया जा सकता है। लिपस्टिक की जगह सिर्फ लिप क्रेयॉन का भी प्रयोग किया जा सकता है।


English Keywords:- Best Lip Makeup Tips in Hindi for Thick Lips, Thin Lips, Dark Skin, Makeup Tips For Girl and Woman in Hindi, Share This Info With Friends and Family on Facebook and Whatsapp.



Related Posts


Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account



error: Content is protected !!