पथरी को दूर करने का आसान तरीका, पीएं खूब पानी!!

किडनी यानी गुर्दे में पथरी की समस्‍या इन दिनों तेजी से बढ़ रही है। इसकी वजह लोगों का बिगड़ता खान-पान और स्‍वास्‍थ्‍य के प्रति लापरवाही बरतना है। पथरी की मुख्‍य वजह पानी की कमी और खनिजों का बिगड़ा हुआ अनुपात होता है। अगर आप भी पानी की बजाय कोल्‍ड ड्रिंक्‍स, कॉफी, चाय आदि का सेवन जमकर कर रहे हैं, तो आप इसकी चपेट में आसानी से आ सकते है।

इसलिए होती है पथरी:-

मूत्र में जब पानी, नमक, विभिन्‍न तरह के खनिज व अन्‍य पदार्थों का अपुपात बिगड़ने लगता है तो धीरे-धीरे पथरी की समस्‍या होने लगती है। दरअसल पानी की कमी होने पर नमक, खनिज व दूसरे पदार्थ आपस में चिपकने लगते हैं और छोटे-छोटे पत्‍थर में बदलने लगते हैं। कई बार यह एक छोटे से पत्‍थर के रूप में रहता है तो कई बार छोटे-छोटे कई पत्‍थर के तौर पर। मूत्र में पदार्थों का संतुलन किस तरह बिगड़ा है, इस पर ही पथरी का प्रकार निर्भर करता है। ज्‍यादातर पथरी कैल्शियम प्रकार की होती है क्‍योंकि मूत्र में कैल्शियम का लेवल बदल जाता है। कई बार चिकित्‍सीय कारणों से भी पथरी की समस्‍या हो जाती है।

इनसे मिलेगी राहत:-

प्‍यास न लगने पर भी खूब पानी पीएं। पानी पथरी को मूत्र के रास्‍ते बाहर निकालने में सहायक होता है।

विटामिन बी6 से भरपूर केला ऑक्‍सीलिक एसिड को तोड़ता है जिससे पथरी में राहत मिलती है।

नींबू में उपस्थित साइट्रेट ऑक्‍सोलेट को रोकता है जिससे पथरी नहीं बनती है। नींबू के रस में जैतून का तेल मिलाकर सेवन करना लाभदायक होता है।

मैंग्‍निशियम और फॉस्‍फोरस जैसे तत्‍वों से भरपूर करेला पथरी बनने से रोकता है।

एल्‍ब्‍यूमिन और सोडियम क्‍लोराइड कम मात्रा में हाने से अंगूर पथरी के उपचार में सहायक है।

नारियल पानी, गाजर, पाइनेपल, बादाम, चौलाई का साग आदि का नियमित सेवन करें। इससे पथरी टूटकर मूत्र के रास्‍ते बाहर आने लगती है।

इनसे बनाकर रखें दूरी:-

पालक: इसमें ऑक्‍सोलेट होता है जो कैल्शियम को बांधकर कैल्शियम ऑक्‍सोलेट रिटल पथरी बनाता है। ऐसे में पथरी होने पर पालक का सेवन न या सीमित मात्रा में करें।

टमाटर: पोषक तत्‍वों के साथ ही टमाटर में ऑक्‍सेलेट की काफी मात्रा होती है। इसका सीमित सेवन या टमाटर का बीज हटाकर ही इसका इस्‍तेमाल किया जाना चाहिए।

सी-फूड:पथरी से ग्रसित लोगों को सी-फूड का सेवन कम कर देना चाहिए। इनमें प्‍यूरीन का मात्रा ज्‍यादा होती है जो यूरिक एसिड का निर्माण बढ़ा देता है।

नमक: सोडियम यूरीन में कैल्शियम के स्‍त्राव को बढ़ाता है, जो खाने के जरिए शरीर में पहुंचने वाले ऑक्‍सोलेट को बांध लेता है और पथरी बनने की आशंका बढ़ जाती है।


English Summery: Stone in Kidney Causes Treatment Home Remedies in Hindi, Pathri Nikalne Ke Upay Gharelu Nuskhe Upchar in Hindi, Pathri Ka Ilaj Kaise Hota Hai, Stone in Kidney What Not to Eat in Hindi




Related...



Leave a Reply