‘‘ हमारे पूर्वज सांपों के साथ खेलते थे, और आज हम माउस के साथ खेलते हैं!’’ ‘‘ मैं एक छोटा आदमी हॅूं, जो छोटे लोगों के लिये कुछ बड़ा करना चाहता हॅूं!’’ – नरेन्द्र मोदी ‘‘हम वादे नहीं, इरादे लेकर आये हैं!’’ – नरेन्द्र मोदी ‘‘एक गरीब परिवार का बेटा आज तुम्हारे सामने खड़ा है,
Complete Reading

जीवन में सफल कौन नहीं होना चाहता, हर एक व्‍यक्ति को अपने जीवन में सफलता चाहिए। तो जानें आप अपने जीवन में कैसे सफलता प्राप्‍त कर सकते है, इन 18 सूत्रों को अपना कर। ✍1. जीवन जब तुम पैदा हुए थे तो तुम रोए थे जबकि पूरी दुनिया ने जश्न मनाया था। अपना जीवन ऐसे
Complete Reading

सबकुछ कुछ नहीं से शुरू हुआ था। काम इतनी शांति से करो कि सफलता शोर मचा दे। भीड़ हौंसला तो देती हैं लेकिन पहचान छिन लेती हैं। जितना कठिन संघर्ष होगा जीत उतनी ही शानदार होगी। इंतजार करना बंद करो, क्योकिं सही समय कभी नही आता। सिर्फ खड़े होकर पानी देखने से आप नदी नहीं
Complete Reading

बहाना 1 :- मेरे पास धन नही! जवाब :- इन्फोसिस के पूर्व चेयरमैन नारायणमूर्ति के पास भी धन नही था उन्हे अपनी पत्नी के गहने बेचने पङे। बहाना 2 :- मुझे बचपन से परिवार की जिम्मेदारी उठानी पङी! जवाब :- लता मंगेशकर को भी बचपन से परिवार की जिम्मेदारी उठानी पङी थी। बहाना 3 :-
Complete Reading

जिंदगी में हर एक इंसान सफल व पैसा वाला होने का सपना देखता है, पर कुछ ही ऐसे वो लोग होते है जो अपने ख्‍वाबों को पूरा कर पाते है। भारत के सबसे अमीर व्‍यक्ति मुकेश अंबानी भी ऐसे ही लोगों में शामिल हैं। मुकेश अंबानी ने पिता से मिली विरासत को अपनी मेहनत व
Complete Reading

महात्मा गांधी अहिंसावादी थे उन्‍हें हिंसा पसंद नहीं थी, महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को हुआ था और मृत्यु 30 जनवरी 1948 को हुई थी। महात्‍मा गाांधी के विचारों को दुनियाभर में काफी पसंद किया जाता है और काफी लोग इनके विचारों का पालन भी करते हैं। आपको यहां हम अवगत करवाते है
Complete Reading

चार्ली चैप्लिन को विश्व सिनेमा का सबसे बड़ा कॉमेडियन माना जाता है। इनका शुरुआती जीवन कई परेशानियों और अभावों का सामना करते हुए बीता था, इसके बावजूद वे अपनी फिल्मों से दूसरों को हंसाने का काम करते रहे। यहां जानिए चार्ली चैप्लिन के कुछ ऐसे विचार, जिनसे बुरे समय को दूर करने की प्रेरणा मिल
Complete Reading

रतन टाटा टाटा समूह जो की भारत का सबसे बड़ा व्यापारिक समूह है के अध्यक्ष हैं। इन का जन्म 28 दिसंबर 1937, को मुम्बई में हुआ था। टाटा समूह की स्थापना जमशेदजी टाटा ने की थी और उनके परिवार की पीढ़ियों ने इसका विस्तार किया। टाटा समूह की उन्नति में रतन टाटा का महत्वपूर्ण योगदान
Complete Reading

ये जरुरी बात नहीं है कि जो लोग आपके सामने आपके बारे में अच्छा बोलते है, वह आपके पीछे भी आपके बारे में यही राय रखते हों। आप की कीमत तब तक है, जब तक आप के पास ऐसा कुछ है, जो पैसे से ख़रीदा ना जा सके। आप अपना भविष्य नहीं बदल सकते, पर
Complete Reading

कोई भी काम शुरू करने के पहले तीन सवाल अपने आपसे पूछो, 1. मैं ऐसा क्यों करने जा रहा हूँ ? 2. इसका क्या परिणाम होगा ? 3. क्या मैं सफल रहूँगा ? ऐसे व्यक्ति जो आपके स्तर से ऊपर या नीचे के हैं, उन्हें दोस्त न बनाओ, वह तुम्हारे कष्ट का कारण बनेगे! सामान
Complete Reading

Create Account



Log In Your Account



error: Content is protected !!