बिना चोट शरीर पर हो नीले निशान तो हो जाएं अलर्ट!

Without Injury Blue Marks on Body Causes in Hindi

शरीर पर अकारण ही पड़ने वाले नील के निशान को मामूली चोट का असर समझने की बजाय, गंभीरता से लेना चाहिए। यह निशान किसी बड़ी बीमारी की आहट हो सकती है। बिना किसी चोट के अगर आपके शरीर पर अचानक नील पड़ जाती है, तो इसे हल्‍के में न लें। शरीर पर पड़ने वाले यह नीले निशान गंभीर बीमारी का लक्षण भी हो सकते हैं। बढ़ती उम्र, पोषण की कमी, हीमोफिलिया या कैंसर जैसी कई वजहों से शरीर में खून जमा होने लगता है, जिससे नीले निशान दिखाई देते हैं। नील पड़ने के साथ दर्द होने पर डॉक्‍टर से तुरंत सलाह लेनी चाहिए।

विटामिन की कमी तो नही।

विटामिन के, विटामिन सी और मिनरल्‍स खून के थक्‍कों और जख्‍मों को भरने में मदद करते हैं। विटामिन के की कमी से सामान्‍य रक्‍त जमने की प्रक्रिया प्रभावित होती है। इसी तरह विटामिन सी कोलोजन और अन्‍य तत्‍व तो रक्‍त धमनियों में अंदरूनी चोट से बचाव करते हैं। जब शरीर में इन विटामिन्‍स की कमी होती है तो नीले निशान दिखाई देने लगते है। खून की कमी से भी शरीर पर नील पड़ने लगती है। ऐसे में जिंक और आयरन का सेवन जरूरी होता है।

होमोफिलिया का भी लक्षण।

हीमोफिलिया होने पर भी नील पड़ने की समस्‍या रहती है। इस बीमारी में खून का थक्‍का नहीं बन पाता और ज्‍यादा खून बहने से नील पड़ने लगती हैा

वॉन विलीब्रांड बीमारी।

इसमें वॉन विलीब्रांड नामक प्रोटीन की मात्रा खून में कम हो जाती है। साथ ही शरीर के अंदर रक्‍त का स्‍त्राव बढ़ जाता है। ऐसे में छोटी-मोटी चोट लगने पर भी शरीर में नीेले निशान दिखाई देने लगते हैं।


English Summery: Be Alert Without Injury Blue Marks on Body Causes in Hindi, Why Small Dark Light Blue Mark Appear on Body Skin Without Injury in Hindi



Related Posts


Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account



error: Content is protected !!