Tag: Anger Management Tips in Hindi

बात पते की – गुस्से में अनजाने रिश्ते ना तोड़े!!

बात पते की – गुस्से में अनजाने रिश्ते ना तोड़े!!

Miscellaneous
अक्सर इंसान को जब गुस्सा आता हैं, वह अपने आगे पीछे की सब भूल जाता हैं। कोई भी दूसरा इन्सान अगर गुस्से वाले से बात करे तो जो मुँह में आये जवाब दे देता हैं। अगर सामने वाला उसका अपना हैं तो २-४ बार सुन भी लेगा और उसे माफ़ कर देगा, वही अगर गुस्से में इन्सान किसी पराये या अनजान आदमी को बोल दे तो वह सामने वाले की नजर में हमेशा के लिए गिर जाता हैं। लोग उसे गुसैल के नाम से बोलने लग जाते हैं। कभी-कभी इंसान को भावनात्मक गुस्सा रहता हैं, यह वह गुस्सा होता है- जो उसे अपनों से उम्मीद जितना प्रेम न मिलने के कारण, या अपनों कि उम्मीद पर खरा न उतरने के कारण, किसी पारिवारिक समस्या कि वजह से होता हैं, जिसका समाधान खोजना अक्सर कठिन और अपनों से उलझा हुआ होता है- ऐसे में इंसान गुस्सा तेज बोल कर नहीं दिखता, सिर्फ अन्दरूनी सोच मे रहता हैं, मन मे कश्मकश चलती रहती है। ऐसे मे इन्सान से कोई बात का DISCUSS किया जाये
error: Content is protected !!