Literary / Sahityik

Sub Category:-

मुहावरों (Idioms) का अर्थ और वाक्य में प्रयोग 126 से 140 तक।

मुहावरों (Idioms) का अर्थ और वाक्य में प्रयोग 126 से 140 तक।

Muhavare / Idioms
मुहावरा 126) हजामत बनाना अर्थ:- ठगना। उदाहरण:- ये हिप्पी न जाने कितने भारतीयों की हजामत बना चुके हैं।मुहावरा 127) हवा लगना अर्थ:- असर पड़ना। उदाहरण:- आजकल भारतीयों को भी पश्चिम की हवा लग चुकी है।मुहावरा 128) हवा से बातें करना अर्थ:- बहुत तेज दौड़ना। उदाहरण:- राणा प्रताप ने ज्यों ही लगाम हिलाई, चेतक हवा से बातें करने लगा।मुहावरा 129) हवा हो जाना अर्थ:- गायब हो जाना। उदाहरण:- देखते-ही-देखते मेरी साइकिल न जाने कहाँ हवा हो गई ?मुहावरा 130) हवाई किले बनाना अर्थ:- झूठी कल्पनाएँ करना। उदाहरण:- हवाई किले ही बनाते रहोगे या कुछ करोगे भी ?मुहावरा 131) हाथ खाली होना अर्थ:- रुपया-पैसा न होना। उदाहरण:- जुआ खेलने के कारण राजा नल का हाथ खाली हो गया था।मुहावरा 132) हाथ खींचना अर्थ:- साथ न देना। उदाहरण:- मुसीबत के समय नकली मित्र हाथ खींच लेते हैं
मुहावरों (Idioms) का अर्थ और वाक्य में प्रयोग 111 से 125 तक।

मुहावरों (Idioms) का अर्थ और वाक्य में प्रयोग 111 से 125 तक।

Muhavare / Idioms
मुहावरा 111) मुँह रखना अर्थ:- मान रखना। उदाहरण:- मैं तुम्हारा मुँह रखने के लिए ही प्रमोद के पास गया था, अन्यथा मुझे क्या आवश्यकता थी।मुहावरा 112) मुँहतोड़ जवाब देना अर्थ:- कड़ा उत्तर देना। उदाहरण:- श्याम मुँहतोड़ जवाब सुनकर फिर कुछ नहीं बोला।मुहावरा 113) मुट्ठी गरम करना अर्थ:- घूस लेना।। उदाहरण:- चलो मुट्ठी गरम कराओ, आज ही काम करवा देता हूँ।मुहावरा 114) रंग उड़ाना अर्थ:- घबरा जाना।। उदाहरण:- काले नाग को देखते ही मेरा रंग उड़ गया।मुहावरा 115) रफूचक्कर होना अर्थ:- भाग जाना। उदाहरण:- पुलिस को देखते ही बदमाश रफूचक्कर हो गए।मुहावरा 116) राई का पहाड़ बनाना अर्थ:- छोटी-सी बात को बहुत बढ़ा देना। उदाहरण:- तनिक-सी बात के लिए तुमने राई का पहाड़ बना दिया।मुहावरा 117) लोहे के चने चबाना अर्थ:- बहुत कठिनाई से सामना करना। उदाहरण:- मुगल सम्राट
मुहावरों (Idioms) का अर्थ, उदाहरण और वाक्य में प्रयोग 91 से 110 तक।

मुहावरों (Idioms) का अर्थ, उदाहरण और वाक्य में प्रयोग 91 से 110 तक।

Muhavare / Idioms
मुहावरा 91) पानी-पानी होना अर्थ:- लज्जित होना। उदाहरण:- ज्योंही सोहन ने माताजी के पर्स में हाथ डाला कि ऊपर से माताजी आ गई। बस, उन्हें देखते ही वह पानी-पानी हो गया।मुहावरा 92) फूँक-फूँककर कदम रखना अर्थ:- सोच-समझकर कदम बढ़ाना। उदाहरण:- जवानी में फूँक-फूँककर कदम रखना चाहिए।मुहावरा 93) बाजी मारना अर्थ:- जीत पाना। उदाहरण:- आज आपने खेल में बाजी मार लिया।मुहावरा 94) बात बनाना अर्थ:- बहाना बनाना। उदाहरण:- तुम हर काम में बात बनाना जानते हो।मुहावरा 95) बाल-बाल बचना अर्थ:- बड़ी कठिनाई से बचना। उदाहरण:- गाड़ी की टक्कर होने पर मेरा मित्र बाल-बाल बच गया।मुहावरा 96) भाड़ झोंकना अर्थ:- योंही समय बिताना। उदाहरण:- दिल्ली में आकर भी तुमने तीस साल तक भाड़ ही झोंका है।मुहावरा 97) भीगी बिल्ली होना अर्थ:- बिलकुल डर जाना। उदाहरण:- वह अपने पापा के सामने
मुहावरों (Idioms) का अर्थ और वाक्य में प्रयोग 71 से 90 तक।

मुहावरों (Idioms) का अर्थ और वाक्य में प्रयोग 71 से 90 तक।

Muhavare / Idioms
मुहावरा 71) थाली का बैंगन अर्थ:- अस्थिर विचार वाला। उदाहरण:- जो लोग थाली के बैगन होते हैं, वे किसी के सच्चे मित्र नहीं होते।मुहावरा 72) थूक कर चाटना अर्थ:- बात देकर फिरना। उदाहरण:- मै राम की तरह थूक कर चाटना वाला नहीं हूँ।मुहावरा 73) दम टूटना अर्थ:- मर जाना। उदाहरण:- शेर ने एक ही गोली में दम तोड़ दिया।मुहावरा 74) दाँत काटी रोटी अर्थ:- घनिष्ठता, पक्की मित्रता। उदाहरण:- कभी राम और श्याम में दाँत काटी रोटी थी पर आज एक-दूसरे के जानी दुश्मन है।मुहावरा 75) दाँत खट्टे करना अर्थ:- बुरी तरह हराना। उदाहरण:- भारतीय सैनिकों ने पाकिस्तानी सैनिकों के दाँत खट्टे कर दिए।मुहावरा 76) दाँत पीसना अर्थ:- बहुत ज्यादा गुस्सा करना। उदाहरण:- भला मुझ पर दाँत क्यों पीसते हो? शीशा तो शंकर ने तोड़ा है।मुहावरा 77) दाने-दाने को तरसना अर्थ:- अत्यंत गरीब होना। उ
मुहावरों (Idioms) का अर्थ और वाक्य में प्रयोग 51 से 70 तक।

मुहावरों (Idioms) का अर्थ और वाक्य में प्रयोग 51 से 70 तक।

Muhavare / Idioms
मुहावरा 51) चिराग तले अँधेरा अर्थ:- भलाई में बुराई। उदाहरण:- छात्र की मूर्खता पर शिक्षक ने कहा बेटा चिराग तले अँधेरा होता है।मुहावरा 52) चैन की बंशी बजाना अर्थ:- मौज करना। उदाहरण:- आजकल राम चैन की बंशी बजा रहा है।मुहावरा 53) चौकड़ी भरना अर्थ:- छलाँगे लगाना। उदाहरण:- हिरन चौकड़ी भरते हुए कहीं से कहीं जा पहुँचे।मुहावरा 54) छक्के छुडा़ना अर्थ:- बुरी तरह पराजित करना। उदाहरण:- पृथ्वीराज चौहान ने मुहम्मद गोरी के छक्के छुड़ा दिए।मुहावरा 55) छप्पर फाडकर देना अर्थ:- बिना मेहनत का अधिक धन पाना। उदाहरण:- ईश्वर जिसे देता है, छप्पर फाड़कर देता है।मुहावरा 56) छाती पर पत्थर रखना अर्थ:- कठोर ह्रदय। उदाहरण:- उसने छाती पर पत्थर रखकर अपने पुत्र को विदेश भेजा था।मुहावरा 57) छाती पर सवार होना अर्थ:- आ जाना। उदाहरण:- अभी वह बात कर रही थी कि बच्चे उसक
मुहावरों (Idioms) का अर्थ और वाक्य में प्रयोग 31 से 50 तक।

मुहावरों (Idioms) का अर्थ और वाक्य में प्रयोग 31 से 50 तक।

Muhavare / Idioms
मुहावरा 31) गरदन झुकाना अर्थ:- लज्जित होना। उदाहरण:- मेरा सामना होते ही उसकी गरदन झुक गई।मुहावरा 32) गरदन पर छुरी फेरना अर्थ:- अत्याचार करना। उदाहरण:- उस बेचारे की गरदन पर छुरी फेरते तुम्हें शरम नहीं आती, भगवान इसके लिए तुम्हें कभी क्षमा नहीं करेंगे।मुहावरा 33) गरदन पर सवार होना अर्थ:- पीछे पड़ना उदाहरण:- मेरी गरदन पर सवार होने से तुम्हारा काम नहीं बनने वाला है।मुहावरा 34) गर्दन पर छुरी चलाना अर्थ:- नुकसान पहुचाना उदाहरण:- मुझे पता चल गया कि विरोधियों से मिलकर किस तरह मेरे गले पर छुरी चला रहे थे।मुहावरा 35) गला घोंटना अर्थ:- अत्याचार करना। उदाहरण:- जो सरकार गरीबों का गला घोंटती है वह देर तक नहीं टिक सकती।मुहावरा 36) गला छूटना अर्थ:- पिंड छोड़ना। उदाहरण:- बुरी तरह फँस गया था किन्तु अब गला छूट गया।मुहावरा 37) गला फँसाना अर्थ:- बंधन
(Idioms) मुहावरों का अर्थ और वाक्य में प्रयोग 11 से 30 तक।

(Idioms) मुहावरों का अर्थ और वाक्य में प्रयोग 11 से 30 तक।

Muhavare / Idioms
मुहावरा 11) कलेजा थामना अर्थ:- जी कड़ा करना। उदाहरण:- अपने एकमात्र युवा पुत्र की मृत्यु पर माता-पिता कलेजा थामकर रह गए।मुहावरा 12) कलेजा मुँह का आना अर्थ:- भयभीत होना। उदाहरण:- गुंडे को देख कर उसका कलेजा मुँह को आ गया।मुहावरा 13) कलेजे पर पत्थर रखना अर्थ:- दुख में भी धीरज रखना। उदाहरण:- उस बेचारे की क्या कहते हों, उसने तो कलेजे पर पत्थर रख लिया है।मुहावरा 14) कलेजे पर साँप लोटना अर्थ:- ईर्ष्या से जलना। उदाहरण:- श्रीराम के राज्याभिषेक का समाचार सुनकर दासी मंथरा के कलेजे पर साँप लोटने लगा।मुहावरा 15) कलेजे पर हाथ रखना अर्थ:- अपने दिल से पूछना। उदाहरण:- अपने कलेजे पर हाथ रखकर कहो कि क्या तुमने पैन नहीं तोड़ा।मुहावरा 16) कागजी घोड़े दौड़ाना अर्थ:- बेहद लिखी पढ़ी करना। उदाहरण:- कुछ काम धाम क्यों नहीं करते ,केवल कागजी घोड़े दौड़ाने से क्या लाभ ?
मुहावरों (Idioms) का अर्थ और वाक्य में प्रयोग 1 से 10 तक।

मुहावरों (Idioms) का अर्थ और वाक्य में प्रयोग 1 से 10 तक।

Muhavare / Idioms
मुहावरा शब्‍द अरबी भाषा का शब्‍द है। इसका मतलब होता है अभ्‍यास या बातचीत करना उत्‍तर देना होता है। लोग अक्‍सर मुहावरो का उपयोग रोजमर्रा, बातचीत, तर्क-वितर्क में करते है। तो आइये जानते है कुछ मुहावरो का अर्थ और उनका वाक्य में कैसे प्रयोग किया जाता है।1) मुहावरा - " उँगली पर नचाना " अर्थ: वश में करना। उदाहरण: आजकल की औरतें अपने पतियों को उँगलियों पर नचाती हैं।2) मुहावरा - " उड़ती चिड़िया पहचानना " अर्थ: रहस्य की बात दूर से जान लेना। उदाहरण: वह इतना अनुभवी है कि उसे उड़ती चिड़िया पहचानने में देर नहीं लगती।3) मुहावरा - " उन्नीस बीस का अंतर होना " अर्थ: बहुत कम अंतर होना। उदाहरण: राम और श्याम की पहचान कर पाना बहुत कठिन है, क्योंकि दोनों में उन्नीस बीस का ही अंतर है।4) मुहावरा - " उलटी गंगा बहाना " अर्थ: अनहोनी हो जाना। उदाहरण: राम किसी से प्रेम से बात कर
सूरदास जी के दोहे अर्थ सहित हिंदी में – दोहा क्र. 11 से 16 तक

सूरदास जी के दोहे अर्थ सहित हिंदी में – दोहा क्र. 11 से 16 तक

Dohe / Couplets
सूरदास जी का दोहा क्रमांक : 11) कबहुं बोलत तात खीझत जात माखन खात। अरुन लोचन भौंह टेढ़ी बार बार जंभात॥ कबहुं रुनझुन चलत घुटुरुनि धूरि धूसर गात। कबहुं झुकि कै अलक खैंच नैन जल भरि जात॥ कबहुं तोतर बोल बोलत कबहुं बोलत तात। सूर हरि की निरखि सोभा निमिष तजत न मात॥ अर्थ: यह पद राग रामकली में बद्ध है। एक बार श्रीकृष्ण माखन खाते-खाते रूठ गए और रूठे भी ऐसे कि रोते-रोते नेत्र लाल हो गए। भौंहें वक्र हो गई और बार-बार जंभाई लेने लगे। कभी वह घुटनों के बल चलते थे जिससे उनके पैरों में पड़ी पैंजनिया में से रुनझुन स्वर निकलते थे। घुटनों के बल चलकर ही उन्होंने सारे शरीर को धूल-धूसरित कर लिया। कभी श्रीकृष्ण अपने ही बालों को खींचते और नैनों में आंसू भर लाते। कभी तोतली बोली बोलते तो कभी तात ही बोलते। सूरदास कहते हैं कि श्रीकृष्ण की ऐसी शोभा को देखकर यशोदा उन्हें एक पल भी छोड़ने को न हुई अर्थात् श्रीकृष्ण क
सूरदास जी के दोहे अर्थ सहित हिंदी में – दोहा क्र. 6 से 10 तक

सूरदास जी के दोहे अर्थ सहित हिंदी में – दोहा क्र. 6 से 10 तक

Dohe / Couplets
सूरदास जी का दोहा क्रमांक : 6) मिटि गई अंतरबाधा खेलौ जाइ स्याम संग राधा। यह सुनि कुंवरि हरष मन कीन्हों मिटि गई अंतरबाधा॥ जननी निरखि चकित रहि ठाढ़ी दंपति रूप अगाधा॥ देखति भाव दुहुंनि को सोई जो चित करि अवराधा॥ संग खेलत दोउ झगरन लागे सोभा बढ़ी अगाधा॥ मनहुं तडि़त घन इंदु तरनि ह्वै बाल करत रस साधा॥ निरखत बिधि भ्रमि भूलि पर्यौ तब मन मन करत समाधा॥ सूरदास प्रभु और रच्यो बिधि सोच भयो तन दाधा॥ अर्थ: रास रासेश्वरी राधा और रसिक शिरोमणि श्रीकृष्ण एक ही अंश से अवतरित हुये थे। अपनी रास लीलाओं से ब्रज की भूमि को उन्होंने गौरवान्वित किया। वृषभानु व कीर्ति (राधा के माँ-बाप) ने यह निश्चय किया कि राधा श्याम के संग खेलने जा सकती है। इस बात का राधा को पता लगा तब वह अति प्रसन्न हुई और उसके मन में जो बाधा थी वह समाप्त हो गई। (माता-पिता की स्वीकृति मिलने पर अब कोई रोक-टोक रही ही नहीं, इसी का लाभ उठाते हु
error: Content is protected !!