कबीर दास के दोहे अर्थ सहित हिंदी में 21 से 30 तक।

21) हाड़ जलै ज्यूं लाकड़ी, केस जलै ज्यूं घास। सब तन जलता देखि करि, भया कबीर उदास।। अर्थ: यह नश्वर

Read more

कबीर दास के दोहे अर्थ सहित हिंदी में 11 से 20 तक।

11) अति का भला न बोलना, अति की भली न चूप। अति का भला न बरसना, अति की भली न

Read more

कबीर दास के दोहे अर्थ सहित हिंदी में 1 से 10 तक।

1) बुरा जो देखन मैं चला, बुरा न मिलिया कोय। जो दिल खोजा आपना, मुझसे बुरा न कोय।। अर्थ :

Read more
error: Content is protected !!