Tag: Heat Stroke Home Remedies in Hindi

लू से बचाव एवं प्राथमिक घरेलू उपचार

लू से बचाव एवं प्राथमिक घरेलू उपचार

Home Remedies
गर्मियों में चलने वाली प्रचण्ड उष्ण तथा शुष्क हवाओं को "लू" कहते है। इस तरह की हवा मई तथा जून में चलती हैं। "लू" के समय तापमान 45° सेंटिग्रेड से तक जा सकता है। गर्मियों के इस मौसम में लू चलना आम बात है। "लू" लगना गर्मी के मौसम की बीमारी है। "लू" लगने का प्रमुख कारण शरीर में नमक और पानी की कमी होना है। पसीने की "शक्ल" में नमक और पानी का बड़ा हिस्सा शरीर से निकलकर खून की गर्मी को बढ़ा देता है। "लू" को कुछ लोग सहन कर जाते है पर कुछ लोग सहन नहीं कर पाते और लू का शिकार हो जाते है। सिर में भारीपन लगता है, नाड़ी की गति बढ़ने लगती है, खून की गति भी तेज हो जाती है। साँस की गति भी ठीक नहीं रहती तथा शरीर में ऐंठन-सी लगती है। बुखार काफी बढ़ जाता है। हाथ और पैरों के तलुओं में जलन-सी होती रहती है। आँखें भी जलती हैं। इससे अचानक बेहोशी व अंततः रोगी की मौत भी हो सकती है।लू से बचने के कुछ घरेलू उपाय:-
error: Content is protected !!