Tag: History of Indian Currency Notes in Hindi

जानें 246 साल पुराना नोटों का इतिहास!

जानें 246 साल पुराना नोटों का इतिहास!

General Knowledge
भारत में कागज के नोटों का इतिहास पुराना है। आजादी से पहले अंग्रेज और पुर्तगालियों ने अपने नोट छापने शुरू किए, लेकिन एकाधिकार की लड़ाई में अंग्रेज जीते। आजादी के बाद नोटों की छपाई में हमने काफी प्रगति की। वॉटरमार्क से लेकर सुरक्षा धागे लगाए। हाल ही में 2000 का नोट भी जारी किया गया है। 1770 - कागज के नोटों की शुरूआत।कागज के नोटो को सबसे पहले जारी करने वालों में बैंक ऑफ हिंदुस्‍तान (1770-1832), द जनरल बौंक ऑफ बंगाल एंड बिहार (1773-75, वारेल हास्टिंग्‍स द्वारा स्‍थपित) और द बंगाल बैंक (1784-91) थे। शुरूआत में बैंक ऑफ बंगाल द्वारा जारी कागज के नोटों पर केवल एक तरु ही छपाई होती थी। इसमें सोने की एक मोहर बनी थी और यह 100, 250, 500 आदि के वर्गो में थे, बाद के नोट में एक बेलबूटा बना था, जो महिला आकृति, व्‍यापार के मानवीकरण का प्रतिनिधित्‍व करता था। यह नोट दोनों ओर छपे होते थे। तीन लिपियों उर्
error: Content is protected !!