Tag: Medicine Tips in Hindi

जरूरी है दवा लेने की सही टाइमिंग!

जरूरी है दवा लेने की सही टाइमिंग!

Health Care
किसी भी बीमारी के इलाज में जितना जरूरी रोग का सही डायग्‍नोसिस और सही दवाइयां तय करना है उतना ही जरूरी दवा लेने की सही टामिंग को फिक्‍स करना भी है। चिकित्‍सा विज्ञान की नई शाखा 'ड्रग क्रोनोथेरेपी' के अनुसार किसी भी दवा का अधिकतम लाभ लेने , उसके प्रभाव का पूरा फायदा उठाने और साइड इफैक्‍ट्स को कम करने के लिए दवा को व्‍यक्ति के सकेंडियन रिद्न के मुताबिक देना चाहिए। सकेंडियन रिद्न हमारे शरीर की जैविक घट़ी है जो हमारी नींद, हारमोन के उत्‍पादन और अन्‍य शरीरिक प्रणालियों पर नियंत्रण रखती है।होता है अधिक फायदा!:- ड्रग क्रोनोथेरेपी के सिद्धान्‍त के मुताबिक हमारा शरीर किसी भी प्रकार के मेडिकेशन के प्रति दिन भर एक ही प्रकार से प्रतिक्रिया देने में सक्षम नहीं रहता। अमरीका की यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्‍सास (आस्टिन) के बायोमेडिकल इंजीनियर प्रोफेसर माइकल स्‍मोलेंस्‍की दवा लेने के टाम के संबंध में बताते ह
कौन सी दवाई के साथ क्‍या नहीं खाना चाहिए!!

कौन सी दवाई के साथ क्‍या नहीं खाना चाहिए!!

Health Care
डॉक्‍टर हमेशा सलाह देते है कि दवाईयों को कभी भी खाली पेट नहीं खानी चाहिए। इसके बहुत आनुषंगिक दुष्प्रभाव होते हैं, लेकिन अगर कुछ दवाएं खा भी रहे हैं तो भी ध्यान रखना होगा कि क्या खा रहे हैं बहुत सी बीमारियों से जुड़ी हुई दवाईयों को हर किसी चीज के साथ खाना ठीक नहीं होता यह विशेष ध्‍यान रखना चाहिए की कौन सी दवाई किस चीज के साथ नहीं खानी है। आप को आज हम यही बताने वाले है कि दवाई खाते समय किन खद्य पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए।➠ वॉरफेरिन (Warfarin):- ये दवा खून के थक्के नहीं बनने देती। इसे या ऐसी कोई भी दवा खा रहे हैं तो हरे पत्तेदार सब्जियां कम खाएं। ऐसा इसलिए कि इन सब्जियों में विटामिन K बहुत ज्यादा होता है जो खून में थक्के बनाता है। जब आप इन दवाओं के साथ वॉरफेरिन खाएंगे तो दवा का असर कम हो जाएगा और फायदा नहीं पहुंचेगा।➠ मुलेठी (Liquorice) शरीर में पोटेशियम को कम करती है जो दिल की
error: Content is protected !!