Tag: Heart Health Care Tips in Hindi

हार्ट केयर~ आदतों को बदलकर दिल को करें मजबूत!!

हार्ट केयर~ आदतों को बदलकर दिल को करें मजबूत!!

Health Care
पिछले कुछ सालों से हृदय से संबंधित चिकित्‍सा सेवाओं में विकास के बावजूद हार्ट अटैक से मरने वालों की संख्‍या में इजाफा हुआ है। इसका सबसे बड़ा कारण रहा है 'हार्ट अटैक' के शुरूआती लक्षणों को नजर अंदाज करना। कुछ खास आदतों को बदलकर आप भी दिल की बीमारी से दूर रह सकते हैं। आज के तनाव ग्रस्‍त जीवन में हृदयरोग का खतरा दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। हृदय को स्‍वस्‍थ रखने के लिए व्‍यायाम करना जितना जरूरी होता है उतना ही स्‍वास्‍थ्‍यवर्द्धक खाना भी जरूरी होता है। हृदय को स्‍वस्‍थ रखने के कुछ उपाय:- तनाव को रखें दूर:- मानसिक तनाव हार्ट अटैक की संभावना को कई गुना बढ़ा देता है। तनाव लेने से बचें और खुद को हमेशा खुश और ऊर्जावन बनाए रखें। तनाव देने वाली बातों और लोगो से दूरी बनाए रखें, यह आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए जरूरी है।संतुलित हैल्‍दी डाइट:- हेल्‍दी डाइट या स्‍वस्‍थ खानपान, आपके दिल को स्‍वस्‍थ
वीमन केयर – 30 के बाद दिल की सुनना जरूरी!!

वीमन केयर – 30 के बाद दिल की सुनना जरूरी!!

Health Care
हृदय रोगों से जुड़े मामले ज्‍़यादातर पुरुषों में ही देखने में आते रहे हैं लेकिन अब महिलाओं में भी इसकी समस्‍या देखने को मिल रही है। इसका बड़ा कारण अनुवांशिक है इसके अलावा सुस्‍त जीवनशैली, पर्यावरण प्रदूषण, धूम्रपान, अल्‍कोहल, खानपान की गलत आदतें भी हैं। हाल ही हुए एक शोध के अनुसार 30 वर्ष पार महिलाएं एक्‍सरसाइज से दूरी बना लेती है ऐसे में हृदय रोगों के बढ़ने की आशंका बढ़ जाती है।बढ़ रही दिक्‍कत:- महिलाओं में भी इसका कारण पुरुषों की तरह ही दबावपूर्ण जीवनशैली में रहना है। पहले महिलाओं में 50, 60 और 70 की उम्र में हार्ट प्रॉब्‍लम नजर आती थी लेकिन बदलती लाइफस्‍टाइल और ओबेसिटी के कारण इसके मामले 30 बर्ष की उम्र में बढ़ रहे हैं।लाइफस्‍टाइल डिजीज:- एक्‍सपर्ट का कहला है कि मधुमेह, हाईबीपी, ओबेसिटी और लाइफस्‍टाइल डिस्‍टॉर्डर भी हृदय रोगों का एक कारण है। अगर किसी महिला को मधुमेह है तो बी
जानें कैसे सेहत का खजाना है अंजीर !!

जानें कैसे सेहत का खजाना है अंजीर !!

Home Remedies
अंजीर (Common fig) स्‍वादिष्‍ट और स्‍वास्‍थ्‍यवर्धक फल है। इसके नियमित सेवन से आप स्‍वस्‍थ और फिट रह सकते हैं। यह वजन घटने के साथ ही डायबिटीज, कैंसर, कफ, अस्‍थमा और पेट संबंधी बीमारियों को दूर करने में असरदार होता है। यह आयरन की कमी को भी दूर करता है। दरअसल अंजीर में विटामिन्‍स, मिनरल्‍स और फाइबर का अच्‍छा स्‍त्रोत होता है। इसमें विटामिन ए, विटामिन बी1, विटामिन बी2, कैल्शियम, आयरन, फास्‍फोरस, मैग्‍नीशियम, सोडियम, कॉपर, पोटेशियम, क्‍लोरीन, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, सेल्‍यूलोज, ओमेगा-3 और ओमेगा-6 फैटी एसिड भी पाया जाता है, जो हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं, तो अंजीर के हेल्‍थ बेनिफिट्स पर एक नजर डालते हैं।हार्ट हेल्‍दी रखती है अंजीर अंजीर में फिनॉल, ओमेगा-3 और ओमेगा-6 फैटी एसिड पाया जाता है जो कि कोरोनरी हार्ट डिजिज (Coronary Heart Disease) का रिस्‍क कम करते हैं। इस
दो मिनट में दूर करें दिल का खतरा!

दो मिनट में दूर करें दिल का खतरा!

Health Care
आप काम करें या आराम, लगातार बैठे रहना आपके दिल की सेहत के लिए नुकसानदेह है। लेकिन इससे बचना आसान है... आजकल लोग दफ्तर में कामकाज के सिलसिले में लगातार बैठे रहते हैं या घर पर टीवी देखते हुए आराम करते हैं। निष्क्रिय जीवनशैली से असमय मौत का खतरा 28 से 59 प्रतिशत तक बढ़ जाता है, जो धूम्रपान या मोटापे से पैदा हुए खतरे के बराबर ही है। यदि काम के चलते आपको कुर्सी पर जमे रहना पड़ता है, तो आप ये तीन उपाय अपना सकते हैं।1. सामान्‍य गति से साइकिल चलाएं दफ्तर जाकर बैठना ही है, तो उसके पहले सुबह सामान्‍य शारीरिक गतिविधियां करें। कुल 10 लाख लोगों पर हुई 16 अलग-अलग स्‍टडीज के विश्‍लेषण का निष्‍कर्ष है कि हर दिन 60 से 75 मिनट तक सामान्‍य गतिविधियां पर्याप्‍त हैं। यहां सामान्‍य का मतलब आराम से टहलना नहीं है। सामान्‍य का तात्‍पर्य है 15 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तर से साइकिल चलाना या 5.5 किमी प्रति घंटे
error: Content is protected !!