Currently browsing:- Heart Touching Story in Hindi


दो प्रेरणादायक कहानियां “याद्दाश्‍त” और “तीसरा मित्र”

याद्दाश्‍त – कमलेश कुमार (Mother Love Short Story in Hindi) बढ़ती उम्र के साथ शांतादेवी की याद्दाशत साथ छोड़ रही थी। चीजें कहीं भी रखकर भूल जातीं, दोबारा दवा खा लेतीं। शाम को पार्क…

दो प्रेरणादायक कहानियाँ Two Very Inspriational Short Stories in Hindi

कहानी 1. – पालनहार की जीत मां और उसकी दो लड़कियां। दोनों बहनें वयस्‍क। बड़ी बहन ने जब अपने मनपसंद लड़के से शादी की ली तो मां को नागवार लगा। वह लड़का उन्‍हें ठीक…

Parivar Ki Kahani Short Moral Story in Hindi

यह रिश्ता क्या कहलाता है? Bikharte Rishte Parivar Kahani in Hindi

यह कहानी नहीं एक सच्चाई है, आज के रिश्तों की.. एक व्यक्ति रामकिशन जिसने 14 साल की उम्रः से एक छोटे से किराना के काम से व्यवसाय शुरू किया। पिता की मृत्‍यु चूँकि पहले…

Tohfa Savita Mishra Short Story in Hindi

तोहफा – सविता मिश्रा Short Moral Story in Hindi

डोरबेल बजी जा रही थी। रामसिंह भुनभुनाए ‘इस बुढ़ापे में यह डोरबेल भी बड़ी तकलीफ देती है। ‘दरवाजा खोलते ही डाकिया पोस्‍टकार्ड और एक लिफाफा पकड़ा गया। लिफाफे पर बड़े अक्षरों में लिखा था…

Gareeb Bhikari Bacche Ki Prernadayak Kahani in Hindi

एक छोटा बच्चा लोगों से भीख मांग रहा था!! Prernadayak Kahani in Hindi

सड़क किनारे एक छोटा बच्चा बहुत गंदे और फटे हुए कपड़े पहने आते जाते लोगों से भीख मांग रहा था। ठंड से बचने के लिए उसके पास एक पुराना फटा हुआ जूट का वोरा…

Basi Roti Heart Touching Short Story in Hindi

बासी रोटी! – हृदय को छूने वाली एक छोटी कहानी! Laghu Katha in Hindi

रात के दो बजे एक कुत्ता झोपड़ी के आगे उदास बैठा था! दूसरा कुत्ता आया और बोला:- रोज तो खूब भौकता है, आज चुप क्‍यों बैठा है? उदास कुत्ता बोला:- रोटी तो कई बार…

Husband and Wife Divorce Heart Touching Story in Hindi

पति-पत्नी और तलाक ~ Husband Wife Heart Touching Story in Hindi

इससे बात से कोई फर्क नहीं पडता की आप विवाहित हैं या अविवाहित, अगर आप पूरी कहानी पढेगें तो आपकी आंखों में प्रेम के आंसू छलक आयेंगे!! मुकदमा दो साल तक चला …… आखिर…

Baap Beta Father Son Heart Touching Story in Hindi

आप मेरे पिता को कब से जानते हैं? Heart Touching Story in Hindi

एक बेटा अपने बूढ़े पिता को वृद्धाश्रम एवं अनाथालय में छोड़कर वापस लौट रहा था… . . उसकी पत्नी ने उसे यह सुनिश्चत करने के लिए फोन किया कि पिता त्योहार वगैरह की छुट्टी…

error: Content is protected !!