Tag: Night Sleeping Tips in Hindi

स्‍लीप योग- नींद पूरी लें, शरीर करता है अंदरूनी तंत्र की सफाई

स्‍लीप योग- नींद पूरी लें, शरीर करता है अंदरूनी तंत्र की सफाई

Health Care
प्रकृति के चक्र की तरह ही नींद का भी चक्र होता है। शरीर तय समय पर आराम चाहता है। नींद पूरी नहीं होने से थकान, चेहरे पर झुरियां, आंखों के नीचे काला घेरा, शरीर में दर्द, अपच, कब्‍ज, तनाव व वजन बढ़ने जैसी समस्‍याएं होती हैं। इससे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी घटती है।जब हम सोते हैं तो शरीर के अंदरूनी अंग विषाक्‍त पदार्थों को साफ करने का काम करते हैं। यही वजह है कि जब सुबह हम उठते हैं तो हल्‍का महसूस करते हैं। नींद सिर्फ अंदरूनी अंगों ही नहीं त्‍वचा को भी तरोताजा रखती है। उम्र के अनुसार नींद:- नवजात (0-3 माह) 14 से 17 घंटे घ्‍यान दें: 19 घंटे से ज्‍यादा न सोने दें।शिशु (4-11 माह) 12 से 15 घंटे जरूरी बात: 10 घंटे से कम व 18 घंटे से अधिक न सोने दें।बच्‍चा (1-2) 11 से 14 घंटे जरूर जानें: 9 घंटे से कम, 16 घंटे से अधिक नुकसानदेय।स्‍कूल पूर्व की उम्र (3-5 साल) 10 से 13 घंट
बच्‍चों को सुलाने के घरेलु उपाय!!

बच्‍चों को सुलाने के घरेलु उपाय!!

Kids / Children
अगर आपका बच्‍चा 6 महीने का हो चुका है और अच्‍छी तरह नहीं सो पाता, तो आप ये उपाय आजमा सकती हैं:-क्‍या आपका लख्‍तेजिगर रात भर चैन से सो नहीं पाता और इस वजह से आप परेशान हैं? छोटे बच्‍चे को रात को ठीक से नींद न आए तो मां भी स्‍ट्रेस की शिकार हो जाती है। बालरोग विशेषज्ञ बताते हैं कि रात को लंबी नींद लेने की आदत शिशुओं में 6 महीने बाद ही आती है। अगर आपका बच्‍चा 6 महीने का हो चुका है और फिर भी अच्‍छी तरह नहीं सो पता, तो आप ये उपाय आजमा सकती हैबैडटाइम फिक्‍स करें! बच्‍चे के सोने का एक समय निर्धारित कर दें। रोज थपकी देकर एक खास वक्‍त पर उसे बिस्‍तर पर लिटा दें। धीरे-धीरे उसी समय उसे नींद आने लगेगी। हमारी जैविक घड़ी बार-बार कुछ करने से उसकी अभ्‍यस्‍त हो जाती है। रात को वह उठ भी जाए तो उससे जोर से बात न करें और फुसफुसाकर बोलें, इससे उसे भी शांत रहने का संकेत मिलेगा। ये आदतें धीरे-धीरे बच्‍
सोने से पहले जरूरी हैं ये काम!!

सोने से पहले जरूरी हैं ये काम!!

Health Care
तन और मन को हैल्‍दी रखने के लिए हर रात सोने से पहले कुछ आदतें डालती जरूरी हैं।गैजेट से दूर रहिए:- कई मनोवैज्ञानिक और शोधकर्ता अपने अध्‍ययनों के बाद कह चुके हैं कि सुकून भरी नींद और शांत चित्त के लिए बिस्‍तर पर जाने के बाद आई पैंड, किंडल, लैपटॉप या स्‍मार्टफोन जैसे इलेक्‍ट्रॉनिक गैजेट्स से दूर रहना चाहिए।हाइजीन मेंटेन करें:- हर रोज बिस्‍तर पर जाने से पहले अपने हाथ पैर अच्‍छी तरह धोएं, संभव हो तो नहाएं। ब्रश और फ्लाइट करें और अच्‍दी तरह कुल्‍ला करें। केश जरुरी संवारें। इनसे अच्‍छी नींद भी आएगी और हेल्‍थ पर भी पॉजिटिव प्रभाव पडेगा।अच्‍छी किताब पढि़ए:- अंतरराष्‍ट्रीय ख्‍यातिप्राप्‍त लेखक और वक्‍ता माइकल केर कहते हैं कि वे दुनिया के कई ऐसे सफल लोगों को जानते हैं जो अपना मन शांत रखने, दुनिया की तमाम अच्‍छी जानकारियां हासिल करने, अपनी क्रिएटिविटी बढ़ाने और जोश व जज्‍बा बनाए रखने
error: Content is protected !!