याददाश्त बढ़ाने के कुछ सरल उपचार

Yaddasht Badhane Ke Tips in Hindi

याददाश्त की कमजोरी या विकृति से विद्यार्थी और दिमागी काम करने वालों को बहुत परेशानी का सामना करना पड़ता है। याददाश्त कमजोर होना कोई रोग नहीं है और न ही किसी रोग का लक्षण है। इसका मुख्‍य कारण एकाग्रता (Concentration) की कमी का होना है।

याददाश्त बढाने के लिए दिमाग को सक्रिय रखना जरूरी होता है। शरीर और मस्तिष्क के व्‍यायाम बहुत फायदेमंद होते हैं। किसी बात को बार-बार रटने से भी स्मरण शक्ति में इजाफ़ा होता है और रटी हुई बातें दिमाग में द्रडता से अंकित हो जाती है। आजकल कई तरह के विडियो गेम्स प्रचलन में हैं । इन खेलों से भी मस्तिष्क को ताकतवर बनाने में सहायक मिलती है। पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित पहेलियां हल करने से भी मस्तिष्क की शक्ति बढती है।

नीचे दिये गये कुछ सरल उपचार भी स्‍मरण शक्ति बढ़ाने में सहायक हो सकते है।

1 – अखरोट (Walnut) स्मरण शक्ति बढ़ाने में बहुत सहायक है। इसका नियमित उपयोग हितकर होता है। 20 ग्राम अखरोट और साथ में 10 ग्राम किशमिस (Raisins) के सेवन से फायदा मिलता है।

2 – एक बादाम (Almond) रात को पानी में गलाएं। सुबह छिलके उतारकर बारीक पीस कर पेस्ट बना लें। अब एक गिलास दूध गरम करें और उसमें बादाम का पेस्ट घोलें। अच्‍छी तरह उबल जाने पर उतारकर हल्‍की गरम हालत में पीयें। इसमें 3 चम्मच शहद भी डालें। यह मिश्रण पीने के बाद 2 घंटे तक कुछ न खाये-पीये। यह स्मरण शक्ति बढ़ाने का जबर्दस्त उपचार है। अच्‍छे परिणाम के लिये यह उपचार दो माह तक करें।

3 – एक सेबफ़ल (Apple) नित्य खाने से कमजोर स्‍मरण शक्ति में लाभ होता है। भोजन से 10 मिनिट पहिले खाएं।

4 – ब्राह्मी (Brahmi) दिमाग की शक्ति बढाने की मशहूर जडी-बूटी है। इसका एक चम्मच रस नित्य पीना फायदेमंद होता है। इसके 7 पत्ते चबाकर खाने से भी वही लाभ मिलता है। ब्राह्मी मे एन्टी ओक्सीडेंट पदार्थ होते हैं जिससे दिमाग की शक्ति घटने पर रोक लगती है।

5 – पौष्टिकता और कम वसा वाले भोजन से अल्जाईमर्स नामक बीमारी होने का खतरा कम रहता है और दिमाग की शक्ति में इजाफ़ा होता है इसके लिये अपने भोजन में ताजा फ़ल, सब्जियां, मछलियां, ओलिव आईल आदि प्रचुरता से शामिल करें।

6 – ऐसे फल जिनमें फ़ास्फ़ोरस तत्व पर्यात मात्रा में पाया जाता है वे स्मरण शक्ति बढाने में विशेषतौर पर उपयोगी होते है। जैसे अंगूर, खारक, अंजीर एवं संतरा स्‍मरण शक्ति बढाने के लिये नियमित उपयोग करना चाहिये।

7 – दूध और शहद मिलाकर पीने से भी याददाश्त में बढोत्‍तरी होती है। छात्रों के लिये फ़ायदेमंद उपचार है। 250 ML गाय के दूध में 2 चम्मच शहद मिलाकर उपयोग करना चाहिये।

8 – भोजन और पेय पदार्थों में कम चीनी का प्रयोग करना फायदेमंद होता है। स्‍मरण शक्ति बढाने के लिये मछली बहुत अच्छा भोजन है। मछली में उपलब्ध ओमेगा 3 फ़ेट्टी एसीड स्मरण शक्ति को मजबूती प्रदान करता है।

9 – धनिये (Coriander) का पावडर 2 चम्मच शहद में मिलाकर लेने से स्मरण शक्ति बढती है।

10 – अदरक, जीरा और मिश्री तीनों को पीसकर लेने से कम याददाश्त की स्थिति में लाभ होता है।

11 – आंवला का रस 1 चम्मच, २ चम्मच शहद में मिलाकर उपयोग करें। भुलक्कड पन में लाभ होता है।

12 – काली मिर्च का पावडर एक चम्मच असली घी में मिलाकर उपयोग करने से याद दाश्त में इजाफ़ा होता है।

13 – दालचीनी का पावेडर बना लें। 10 ग्राम पावडर शहद में मिलाकर चाटलें। कमजोर दिमाग की अच्छी दवा है।

14 – तुलसी के 9 पत्ते, गुलाब की पंखुरी और 1 काली मिर्च खूब चबा-चबाकर खाने से दिमाग के सेल्स को ताकत मिलती है।

15 – आम का रस (मेंगो जूस) मेमोरी बढाने में विशेष सहायक माना गया है। आम रस में 2 चम्मच शहद मिलाकर लेना उचित है।

16 – तिल में स्मरण शक्ति वृद्दि करने के तत्व हैं। 20 ग्राम तिल और थोडा सा गुड का तिलकुट्टा बनाकर नित्य सेवन करना परम हितकार उपचार है।

17 – गाजर (Carrot) में एन्टी ओक्सीडेंट तत्व होते हैं। इससे रोग प्रतिरक्षा प्राणाली ताकतवर बनती है। और दिमाग की ताकत बढ़ाने के उपाय के तौर पर इसकी अनदेखी नहीं करना चाहिये।

Yoga for Improve Memory Power in Hindi
Yoga for Improve Memory Power in Hindi

18 – ऊपर दिये गये चित्र में प्रदर्शित योगासन करने से भी मेमोरी पावर में इजाफ़ा होता है। योग और प्राणायाम की अनदेखी करना ठीक नहीं।


English Summery: Know How to Improve Memory Power and Concentration in Hindi, Yaddasht Badhane Ke Tips in Hindi, Dimag Tez Karne Ka Tarika in Hindi, Smaran Shakti Badhane Ka Mantra

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account



error: Content is protected !!