Tag: Sardi Ke Mausam Ki Health Care Tips in Hindi

सर्दी के मौसम में सूप जरूर पीएं!

सर्दी के मौसम में सूप जरूर पीएं!

Health Care
हमें अपने खानपान में पौष्टिक चीजों को अहमियत देनी चाहिए। कोशिश करनी चाहिए कि हमारे रूटीन के खानपान में पौष्टिक तत्‍व शामिल हों। खानपान में एक महत्‍वपूर्ण पहलू यह भी है कि यह मौसम के मुताबिक होना चाहिए। मौसम के अनुसार खानपान हमारे लिए अधिक फायदेमंद होता है। सर्दी ने अपना रंग दिखाना शुरू कर दिया है। ऐसे में हमें भी सर्दी से जुड़े खानपान पर ध्‍यान देना चाहिए। सर्दी के खानपान में सूप को भी प्राथमिकता से शामिल करना चाहिए। सूप हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए काफी फायदेमंद होता है। स्‍वीट कॉर्न सूप स्‍वीट कॉर्न सूप न्‍यूट्रीएंट्स और एंटीऑक्‍सीडेंट्स तत्‍वों से भरपूर होता है। यह सूप हार्ट आर्टरीज के ब्‍लॉकेज दूर करने में मददगार होता है। हाइपर टेंशन को कम कर साइलेंट हार्ट अटैक के खतरे को कम करता है। फेफड़ों को स्‍वस्‍थ रखने में मददगार होता है। सांस संबंधी समस्‍याओं में राहत देता है। मस्तिष्‍क की नसों क
सर्दी के मौसम की स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी सलाह!

सर्दी के मौसम की स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी सलाह!

Health Care
बाइक से चलें तो हेलमेट के साथ मास्‍क भी लगाएं। सर्दी की शुरूआत में नमी से संक्रमण बढ़ता है। पसीना आना, ठंड लगना मौसमी बीमारी के मुख्‍य कारणों में से एक है। सर्दी-खांसी-जुकाम जल्‍दी होने लगाता है। युवा बाइक से चलें तो हेलमेट के साथ मास्‍क लगाएं। 5 साल से कम उम्र के बच्‍चों को नहलाने के बजाय उसे कपड़ा गीला कर पोंछें।इस मौसम में दिन-रात के तापमान का अंतर तेजी से कम हो जाता है। इस वजह से एलर्जी व वायरल बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। सर्दी, जुकाम, बुखार, खांसी, गला खराब होने जैसी दिक्‍कतें होती हैं। इसका सबसे ज्‍यादा असर अब युवाओं में देखने को मिल रहा है। उन्‍हें एलर्जी सहित कई शरीरिक समस्‍याएं होती हैं। बुजुर्गों में युवाओं की जुलना में रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है। ऐसे में उनमें खून की कमी, मधुमेह, हृदय संबंधी समस्‍या होने के कारण संक्रमण की आशंका ज्‍यादा रहती है। उच्‍च रक्‍तचाप से दि
error: Content is protected !!