Tag: Skin Care Tips in Hindi

शुरूआती सफेद दाग (विटिलिगो) में कारगर है होम्‍योपैथी चिकित्‍सा!

शुरूआती सफेद दाग (विटिलिगो) में कारगर है होम्‍योपैथी चिकित्‍सा!

Health Care
भारत में सफेद दाग के प्रति बहुत भ्रांतियां है, इसे सफेद कुष्‍ठ के नाम से भी जाना जाता है। भारतवर्ष में कुल जनसंख्‍या का लगभग 1% से 8% के मध्‍य विटिलिगो के रोगी हैं। विश्र्व जनसंख्‍या का 1% लोग इस रोग से ग्रसित हैं। ██ सफेद दाग क्‍या है ? विटिलिगो यानी सफेद दाग एक त्‍वचा का रोग है, इसमें इंसान के शरीर के विभिन्‍न स्‍थानों पर सफेद दाग /धब्‍बे दिखाई देते हैं। इसमें त्‍वचा के प्राकृतिक रंग के स्‍थान पर छोटे-छोटे सफेद धब्‍बे दिखाई देते हैं। प्रारम्‍भ में रोगी के शरीर पर जैसे साथ, पांव, कोहनी, गर्दन, कमर, चेहरे, होंठ और जाननांगों आदि पर छोटे-छोटे सफेद धब्‍बे निकलते है। ये आपस में मिलकर बड़ा धब्‍बा बना लेते हैं। इस प्रकार शरीर के विभिन्‍न्‍ भागों में सफेद दाग दिखाई देते हैं। इस रोग में रोगी को किसी प्रकार की कोई तकलीफ नहीं होती, परंतु सफेद दाग चेहरे, होंठ, हाथ, पांव, आदि पर दिखाई देने के कारण र
इन वजहों से काले हो जाते हैं आपके अंडरआर्म्‍स, ये करें!!

इन वजहों से काले हो जाते हैं आपके अंडरआर्म्‍स, ये करें!!

Beauty Tips
हाथों के बगल यानी अंडरआर्म्‍स काले होने की समस्‍या न केवल महिलाओं बल्कि पुरुषों में भी देखी जाती है। इससे राहत पाने के लिए वे कई तरीकों की मदद लेते हैं। लेकिन कोई पूर्ण रूप से उपयोगी साबित नहीं होती है। हालांकि यह कोई गंभीर या बड़ी समस्‍या नहीं है यदि इस पर अच्‍छे से ध्‍यान दिया जाए। जानते हैं इसके प्रमुख कारण और उनसे छुटकारा पाने का उपाय :- हेयर रिमूवल क्रीम :- सत्‍तर प्रतिशत मामलों में हेयर रिमूवल क्रीम अंडरआर्म्‍स को काला बनाने के लिए जिम्‍मेदार होती है। अगर आप भी अंडरआर्म्‍स के बालों को हटाने के लिए क्रीम का उपयोग करते हैं, तो इसे आज ही बंद कर दें। इसका कारण यह है कि ये रोमछिद्रों को भर देता है जिससे पसीना और रक्‍त मिलकर त्‍वचा को काला दिखाता है। इसलिए जितना हो सके इसके प्रयोग से बचें। केवल अंडरआर्म्‍स ही नहीं बल्कि हो सके तो हाथ-पैरों पर भी इसके इस्‍तेमाल से बचना चाहिए।रेजर का प
स्किन प्रॉब्‍लम में कारगर हैं ये घरेलू नुस्‍खे!!

स्किन प्रॉब्‍लम में कारगर हैं ये घरेलू नुस्‍खे!!

Beauty Tips, Home Remedies
किसी भी मौसम में त्‍वचा से जुड़ी समस्‍याएं होना सामान्‍य बात है लेकिन इनसे घबराए नहीं। कुछ घरेलू और आसान उपाय अपनाकर इन्‍हें दूर किया जा सकता है।त्‍वचा पर मूली के पत्‍तों का रस लगाने से किसी भी प्रकार की स्किन प्रॉब्‍लम में राहत मिलती है।त्‍वचा पर मौजूद घाव को ठीक करने के लिए नीम के पत्‍तों का रस निकाल कर प्रभावित हिस्‍से पर लगाएं। फिर उस पर पट्टी बांध लेने से घाव मिट जाते हैं। ध्‍यान रखें कि पट्टी को समय-समय पर बदलते रहें।त्‍वचा रोग में सेब के रस को लगाने से उसमें राहत मिलती है। प्रतिदिन एक या दो सेब खाने से चर्म रोग दूर हो जाते हैं। त्‍वचा का तैलीयपन दूर करने के लिए एक सेब को अच्‍छी तरह से पीस कर उसका लेप पूरे चेहरे पर लगा कर दस मिनट के बाद चेहरे को हल्‍के गुनगुने पानी से धो लेने पर 'तैलीय त्‍वचा' की परेशानी से मुक्ति मिलती है।सूखी त्‍वचा की शिकायत रहती हो तो सरसों के त
त्‍वचा भी निखार सकता है सलाद का सेवन।

त्‍वचा भी निखार सकता है सलाद का सेवन।

Beauty Tips
सौंदर्य प्रसाधनों से ज्‍यादा डाइट पर ध्‍यान देकर बिना किसी साइड इफेक्‍ट्स के हम त्‍वचा की रंगत निखार सकते हैं। इसके लिए जरूरी है कि हम अपनी डाइट में सलाद में इस्‍तेमाल की जाने वाली चीजें एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर हाने के साथ ही कई तरह के विटामिन का भी स्‍त्रोत होती हैं।गाजर:- एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर गाजर का सेवन करने से त्‍वचा की रंगत बढ़ने के साथ ही झुर्रियों से भी निजात मिलती है। इसमें बीटा कैरोटीन की अधिक मात्रा होती है जिससे विटामिन ए मिलता है। सलाद के अलावा एक ग्‍लास गाजर का रस रोजाना पीएं।चुकंदर:- आइरन का स्‍त्रोत चुकंदर हीमोग्‍लोबिन तो बढ़ता ही है, साथ ही स्किन भी अच्‍छी होती है। चुकंदर का रस पीने या सलाद में सेवन करने के अलावा इसका लेप चेहरे पर भी लगा सकते है। इससे चेहरे पर गुलाबी रंगत आती है।अंकुरित चना:- विटामिन ई से भरपूर अंकुरित चना और मूंग खाने से चेहरे की झुर्रि
error: Content is protected !!