Maturity का सम्बन्ध आदमी की उम्र से नहीं, बल्कि…

Maturity का सम्बन्ध आदमी की उम्र से नहीं, बल्कि उसकी सोच से होता हैं।

Maturity का meaningपरिपक्वता। — Maturity Meaning in Hindi
अर्थार्त ऐसा गुण जो अपने अन्दर अपने आस पास की अच्छाई और बुराई दोनों को पचा कर स्वयं अपना व्यव्हार अच्छा बनाये रख सके। परिपक्वता ऐसा गुण है जिसके तहत अपने आस पास मौजूद इन्सान की कमियां और अच्छाइयाँ जानकर भी उनके लिए बिना गलत सोचे, उनकी क्षमता का सही दिशा में उपयोग करे, बिना उनको नुक्सान पहुचाये।

जैसे :-
१. माता-पिता जिस रूप में मिले है, हमेंशा उनका सम्‍मान करें, बिना उनमें कोई कमी निकाले और बिना उन्‍हें बदले। हम उनकी उम्र के अनुसार कोई की हुई भूल बता सकते है, पर बिना गुस्‍सा किए।

२. बच्चों को उनकी मासूमियत के आधार पर उनकी सोच को सही दिशा देने का प्रयत्न कर सकते है, उनका दोस्त बन कर। बजाय बहस और अपने बड़े होने का अहसास कराकर।

३. पति-पत्नी के बीच एक दूसरे के कार्य के प्रति कर्त्तव्य परायणता का भाव होना चाहिए, न कि बराबरी का (जैसे तुमने क्या किया, मैंने तो इतना काम किया, घर को सँभालू या बच्चो को, तुम दिन भर सिर्फ ऑफिस ऑफिस आदि)।

४. ऑफिस या कार्यस्थल पर बॉस उम्र से बड़ा नहीं, पैसा से बड़ा नहीं, बल्कि सबके प्रति उसका समान व्यवहार / दृष्टिकोण उसे Employee का Boss बनता है। अगर बॉस विनम्रता, समझदारी और सहयोगात्मक व्यवहार नहीं रखे तो Employee कभी लम्बा नहीं रुकेगा।

५. भाई-भाई, भाई-बहन, दोस्त, रिश्तेदार सबके साथ विनम्रता से पेश आना, Mature व्यक्ति कि निशानी है।

इधर की उधर बातें करना, लोगो को एक दूसरे से चुगली करना यह सब अपरिपक्व लोगो की निशानी है।
Mature आदमी लोगो को जोड़ता है तोड़ता नहीं।

SO BE A MATURE ONE… BY THOUGHT BY WORK…


Writer Shweta Jhanwar Bhilwara

Click Here to Read More Articles By Shweta Jhanwar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!