Tag: Gharelu Nuskhe in Hindi

कोहनी का कालापन दूर करने के लिए अचूक घरेलू उपाए!

कोहनी का कालापन दूर करने के लिए अचूक घरेलू उपाए!

Beauty Tips
अगर आपके कोहनी और घुटनों में कालापन है और आपने क्रीम और स्‍क्रब सब का उपयोग कर के देख लिया है। कोहनी और घुटने की कालिमा नहीं दूर हो रही है तो आप चंद चमत्कारी उपाय अपनाकर कोहनी व घुटनों का कालापन दूर कर सकते है।जिस तरह से आप अपने चेहरे को साफ करने पर ध्‍यान देती हैं ठीक उसी तरह से शरीर के बाकी अंगों की भी सफाई जरुरी है। गर्दन, पीठ, कुहनी, घुटने, तलवे आदि ऐसे ही अंग हैं जिनकी सफाई पर उचित ध्यान नहीं दिया जाता। आज हम आपको कुहनियों का कालापन दूर करने के असरदार घरेलू उपचार बताएंगे। इन प्राकृतिक उपचारों से आप साफ और गोरी कुहनियां पा सकते हैं।घरेलू नुस्‍खे / उपचार एक बार में काम नहीं करते इनका लाभ लेने के लिए इन्‍हे कुछ दिनों तक आजमाना पडता है।नींबू और मलाई का पेस्‍ट:- घुटने और कोहनी की सफाई के लिए सबसे लोकप्रिय चमत्कारी उपाय है नींबू और मलाई का पेस्‍ट। नींबू को छील कर उसमें मल
औषधीय गुणों से भरा है! कड़वा करेला!!

औषधीय गुणों से भरा है! कड़वा करेला!!

Home Remedies
करेला का नाम सुनते ही दिमाग में कड़वेपन का ख्याल आ जाता है। हरे या गहरे हरे रंग की इस सब्जी का स्वाद भले ही मन को न भाए पर इसमें और जरूरी विटामिन पाए जाते हैं। अन्य सब्जी या फल की तुलना में करेला में ज्यादा औषधीय गुण हैं। करेले में प्रचूर मात्रा में विटामिन A, B और C पाए जाते हैं। करेले में प्रोटीन, कैल्षियम, कार्बोहाइड्रेट, फास्फोरस, ढेरों एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन है, इसके अलावा कैरोटीन, बीटाकैरोटीन, लूटीन, आइरन, जिंक, पोटैशियम, मैग्नीशियम और मैगनीज जैसे फ्लावोन्वाइड भी पाए जाते हैं। जो कि कफ की शिकायत दूर करता है। पाचन शक्ति बढ़ाता है, जिसके कारण भूख बढ़ती है। करेला ठंडा है, यह गर्मी से पैदा हुई बीमारियों का उपचार करता है। करेले का सेवन हम कई रूपों में कर सकते हैं। हम चाहें तो इसका जूस पी सकते हैं, अचार बना सकते हैं या फिर इसका इस्तेमाल सब्जी के रूप में कर सकते हैं।हम आपको बताते है कि
पेट की गैस में छुपा है आपकी सेहत के राज!!

पेट की गैस में छुपा है आपकी सेहत के राज!!

Home Remedies
पेट में गैस बनने की समस्या काफी तकलीफदेह होती है। यह कई बार आपको शर्मिदा तो करती ही है साथ ही साथ आपके पाचन तंत्र की भी सेहत बिगाड़ सकती है। हर व्यक्ति के शरीर में बनती है गैस। यह शरीर से बाहर या तो डकार द्वारा या गुदा मार्ग से निकलती है। अधिकतर लोग 1 से 4 पिंट्स गैस पैदा करते हैं और एक दिन में कम-से-कम 14 से 23 बार गैस पास करते हैं। पेट की ये गैस आपके स्वास्थ्य के बारे में काफी कुछ बताती है। आइये जानें क्यों बनती है पेट में गैस और क्या बताती है वो आपके स्वास्थ्य के बारे में।गैस के लक्षण! पेट फूलना:- पेट का फूलना गैस की वजह से हो सकता है या बड़ी आंत का कैंसर या हार्निया भी इसका कारण बन सकता है। ज्यादा वसायुक्त भोजन करने से पेट देर से खाली होता है। इससे भी पेट फूल जाता है और बेचैनी होती है। पेट दर्द:- जब आंत में गैस मौजूद होती है, तब कुछ लोगों को पेट दर्द होता है। जब बड़ी आंत की बायी
जानें फिटकरी के फायदे, लाभ व उपयोग!!

जानें फिटकरी के फायदे, लाभ व उपयोग!!

Health Care
फिटकरी को लोग सालों से काम में लेते आए हैं। फिटकरी आमतौर पर सब घरों में प्रयोग होती है, फिटकरी का इस्तमाल खासतौर से बारिश के मौसम में पानी को साफ करने के लिए किया जाता है। फिटकरी लाल व सफेद दो प्रकार की होती है। अधिकतर सफेद फिटकरी का प्रयोग ही किया जाता है।जानिए फिटकरी के खास गुण:-जिन लोगो को शरीर से ज्यादा पसीना आने की समस्या हो तो वो लोग नहाते समय पानी में फिटकरी को घोलकर नहाने से पसीना आना कम हो जाता है। फिटकरी के पानी से योनि को सुबह-शाम नियमित धोएं। पंसारी से संगे जराहत और फिटकरी लेकर दोनों पीस लें और इस आधा ग्राम चूर्ण की फंकी ताजे पानी के साथ या गाय के दूध के साथ सुबह, दोपहर और शाम दिन में तीन बार लें। कुछ ही दिनों के प्रयोग से अवश्य लाभ होगा। यदि चोट या खरोंच लगकर घाव हो गया हो और उससे खून बह रहा हो घाव को फिटकरी के पानी से धोएं तथा घाव पर फिटकरी का चूर्ण बनाकर बुरकने
ये 5 चीजें! गैस, एसिडिटी, अपच, कब्ज दूर करती हैं !

ये 5 चीजें! गैस, एसिडिटी, अपच, कब्ज दूर करती हैं !

Home Remedies
ऑयली और स्पाइसी खाना खाने में तो बहुत ही स्वादिष्ट लगता है, लेकिन गर्मियों में इसका सेवन सेहत पर बुरा असर डालता है। इसलिए गर्मियों में हल्का खाना और खूब पानी पीना फायदेमंद कहा गया है। लिक्विड डाइट को वैसे भी शरीर के लिए बहुत ही जरूरी माना गया है। फिर भी ऐसे भोजन से अगर अपच और एसिडिटी की समस्या हो गई हो, तो इससे निपटने के कई सारे ऑप्शन्स मौजूद हैं।अदरक जी मिचलाना, अपच और पेट दर्द जैसी समस्याएं होने पर अदरक का सेवन बहुत ही लाभकारी होता है। गैस की समस्या में सबसे ज्यादा पेट दर्द होता है कई बार तो डॉक्टर के पास जाने की नौबत आ जाती है। अदरक में दो प्रकार के केमिकल्स जिन्जेरॉल्स और श्गॉल्स पेट की अंदरूनी सफाई करते हैं। ये गैस के साथ ही एसिडिटी की समस्या से भी राहत दिलाते हैं।इसे बनाने के लिए:- एक कप गर्म पानी में अदरक के टुकड़े डाल कुछ देर उबलने दें। कुछ देर बाद शहद और स्वादानुसार
बहुत फायदेमंद है फलों के छिलके – उपयोग व फायदे!

बहुत फायदेमंद है फलों के छिलके – उपयोग व फायदे!

Health Care
बहुत कम लोग जानते हैं कि सिर्फ फलों और सब्जियों में ही नहीं, बल्कि उनके छिलके भी गुणों से युक्त होते हैं। शरीर के लिए आवश्यक लगभग हर तरह के पोषक तत्व हमें इनसे मिलते हैं। इसलिए डॉक्टर सेहत बनाने के लिए अधिक मात्रा में इनका सेवन करने को कहते हैं, लेकिन इन छिलकों का उपयोग करने से कई रोग भी दूर होते हैं। यदि आप भी फलों और सब्जियों के इन गुणों से अनजान हैं! तो आइए जानते हैं आज छिलकों के कुछ ऐसे गुणों के बारे में...• नींबू का छिलका दांत पर मलने से दांत चमकदार बनते हैं। • नींबू व संतरे के छिलकों को सुखा कर, खूब महीन चूर्ण बनाकर दांत पर घिसें। दांत चमकदार बन जाएंगे। • लौकी के छिलके को बारीक पीसकर पानी के साथ पीने से दस्त में लाभ होता है। • केले का छिलका दांतों पर रगड़ने से दांत चमकने लगते हैं। • बादाम के छिलके व बबूल की फलियों के छिलके और बीजों को जलाकर पीस लें। इस मिश्रण में थोड़ा नमक डा
बाजरा हड्डियों के रोगों के लिए रामबाण!!

बाजरा हड्डियों के रोगों के लिए रामबाण!!

Health Care
बाजरे का किसी भी रूप में सेवन लाभकारी है बाजरा खाइए, हड्डियों के रोग नहीं होंगे...- बाजरे की रोटी खाने वालों को हड्डियों में कैल्शियम की कमी से पैदा होने वाले रोग आस्टियोपोरोसिस और खून की कमी यानी एनीमिया नहीं होता।- बाजरे में भरपूर कैल्शियम होता है जो कि हड्डियों के लिए रामबाण औषधि है, आयरन भी बाजरे में इतना अधिक होता है कि खून की कमी से होने वाले रोग नहीं हो सकते।- वरिष्ठ चिकित्साधिकारी मेजर डा. बी.पी. सिंह के सेना में सिक्किम में तैनाती के दौरान जब गर्भवती महिलाओं को कैल्शियम और आयरन की जगह बाजरे की रोटी और खिचड़ी दी जाती थी। इससे उनके बच्चों को जन्म से लेकर पांच साल की उम्र तक कैल्शियम और आयरन की कमी से होने वाले रोग नहीं होते थे।- इतना ही नहीं बाजरे का सेवन करने वाली महिलाओं में प्रसव में असामान्य पीड़ा के मामले भी न के बराबर पाए गए।- गर्भवती महिलाओं को कैल्शियम की ग
रंग निखारने व गोरा बनने के घरेलू नुस्खे!

रंग निखारने व गोरा बनने के घरेलू नुस्खे!

Home Remedies
इस पूरी दुनिया में हर इंसान खूबसूरत दिखना चाहता है। शायद ही कोई ऐसा होगा, जिसमें खूबसूरती पाने की चाहत नहीं होगी। इसीलिए सौन्दर्य से जुड़ी बातें लोगों के चेहरे पर मुस्कान ला देती हैं, मगर सच्चाई ये है कि खूबसूरती अंदर से होती है।जो इंसान सोचता है कि मैं खूबसूरत हूँ, वह दूसरों को अपने आप सुंदर और आकर्षक दिखाई देने लगता है। यदि किसी इंसान के नाक़नक्श अच्छे हैं, लेकिन उसका रंग ज्यादा गोरा नहीं है तो हम भारतीय उसे बहुत सुंदर नहीं मानते, क्योंकि हमारे यहाँ गोरे रंग के लोगो के प्रति ज्यादा आकर्षण होता हैइसीलिए लोग गोरे होने के लिए विभिन्न प्रकार के संसाधनों का उपयोग करते है। यदि आपके साथ भी यही समस्या है आपका रंग सांवला हैं और आप अपना रंग गोरा करने के लिए तरह-तरह के कॉस्मेटिक्स उपयोग करके थक चूके हैं तो घरेलू नुस्खे अपनाइए। घरेलू नुस्खों को अपनाने से स्किन, हेल्दी, ग्लोइंग, फेयर हो जाती
पैरों को सुन्दर व साफ रखने के लिए घरेलु नुस्खे !

पैरों को सुन्दर व साफ रखने के लिए घरेलु नुस्खे !

Home Remedies
हर व्यक्ति को रोज अपने पैरों को साफ करने के लिए 10 मिनट का समय जरूर निकालना चाहिए। इसके अलावा पैरों को साफ रखने से न सिर्फ वे सुंदर लगेंगे, बल्कि आपको फटी एड़ियों के कारण शर्मिंदा भी नहीं होना पड़ेगा। कहते हैं कि जो लोग अपने पैर साफ रखते हैं, उन्हें कई तरह की बीमारियां नहीं होती हैं।डॉक्टरों के अनुसार, पैर और पैर की एड़ियों को साफ-सुथरा रखना भी उतना ही जरुरी है, जितना कि सिर के बालों को शैम्पू करना। इसलिए आज हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसे घरेलु नुस्खों के बारे में, जिन्हें अपनाने से आपके पैर बहुत जल्दी साफ हो जाएंगे।• पैरों को गीला करके दानेदार चीनी को 10 मिनट तक पैरों पर रगड़ें, फिर पैरों को गर्म पानी में कुछ देर डुबो कर रखें।• जिन लोगों को पैर में ज्यादा पसीना आता है, उनके लिए सिरका बहुत अच्छा उपाय है, अपने पैरों को पानी और थोड़े से सिरके में डुबोएं और फिर 10 मिनट के बाद पैर
पुदीना ठंडा-ठंडा, कूल-कूल!! –  घरेलू नुस्खे

पुदीना ठंडा-ठंडा, कूल-कूल!! – घरेलू नुस्खे

Home Remedies
• हरा पुदीना पीसकर उसमें नींबू के रस की दो-तीन बूँद डालकर चेहरे पर लेप करें। कुछ देर लगा रहने दें। बाद में चेहरा ठंडे पानी से धो डालें। कुछ दिनों के प्रयोग से मुँहासे दूर हो जाएँगे तथा चेहरे की कांति खिल उठेगी।• बिच्छू या बर्रे के दंश स्थान पर पुदीने का अर्क लगाने से यह विष को खींच लेता है और दर्द को भी शांत करता है।• पुदीने को पानी में उबालकर थोड़ी चीनी मिलाकर उसे गर्म-गर्म चाय की तरह पीने से बुखार दूर होकर बुखार के कारण आई निर्बलता भी दूर होती है।• हैजे में पुदीना, प्याज का रस, नींबू का रस बराबर-बराबर मात्रा में मिलाकर पिलाने से लाभ होता है। उल्टी-दस्त, हैजा हो तो आधा कप पुदीना का रस हर दो घंटे से रोगी को पिलाएं।• हरे पुदीने की 20-25 पत्तियां, मिश्री व सौंफ 10-10 ग्राम और कालीमिर्च 2-3 दाने इन सबको पीस लें और सूती, साफ कपड़े में रखकर निचोड़ लें। इस रस की एक चम्मच मात्रा लेकर
error: Content is protected !!