इन बजहों से अच्‍छी होती है ग्रीन टी!

एंटी ऑक्‍सीडेंट्स से भरी ग्रीन टी कोलेस्‍ट्रोल और ब्‍लड प्रेशर को कम करने में मदद करती हैं।

सेहत के प्रति सजग रहने वाले लोग ग्रीन टी का सेवन विशेष रूप से करते हैं। यह शरीर के लिए कई तरह से लाभकारी होती है। गीन टी में पॉलीफिनॉल्‍स भरपूर मात्रा में होता है। पॉलीफिनॉल्‍स असल में एंटी ऑक्‍सीडेंट्स एवं एंटी इंफ्लेमेटरी होते हैं। मधुमेह रोगियों के लिए ग्रीन टी को बहुत उपयोगी बताया गया है। इसके अलावा ग्रीन टी वजन कम करने में भी सहायक होती है। दिल के रोगियों को भी ग्रीन टी का सेवन करना चाहिए। जानते हैं ग्रीन टी से मिलने वाले स्‍वास्‍थ्‍य लाभ:-



स्‍किन इंफलेमेशन में

त्‍वचा संबंधी समस्‍याओं को दूर करने के लिए ग्रीन टी का सेवन लाभकारी है। यह सोरायसिस एवं डेंड्रफ की समस्‍याओें को दूर करने में मददगार हो सकती है। कुछ एनिमल स्‍टडीज से सामने आया है कि इंफ्लेमेटरी स्‍किन डिजीज से त्‍वचा में रूखापन, लाल होना जैसी समस्‍याएं हो जाती हैं। साथ ही स्किन सेल्‍स का प्रोडक्‍शन भी ज्‍यादा होता हैं। ऐसे में यदि नियमित ग्रीन टी का सेवन किया जाए तो सेल्‍स साइकिल को नियमित किया जा सकता है।

मेमोरी बूस्‍टर है ग्रीन टी

साइकोफार्माकोलॉजी में प्रकाशित एक अध्‍ययन के अनुसार ग्रीन टी ब्रेन कॉन्गिनिटिव फंक्‍शन को, खासतौर पर मेमोरी को बढ़ाने का काम करती है। रिसर्च के अनुसार ग्रीन टी के सेवन से डिमेंशिया जैसे रोगों का उपचार किया जा सकता है। इसी तरह एक अन्‍य अध्‍ययन के अनुसार ग्रीन टी अल्‍जाइमर रोग की रोकथाम में भी महत्‍वपूण भूमिका निभाती है। ग्रीन टी डेंटल कैविटी, तनाव, क्रॉनिक थकान आदि की समस्‍याओं को दूर करने के साथ ही आर्थराइटिस की समस्‍यया से भी राहत देने का काम करती है।

कैंसररोधी गुण

रिसर्च के अनुसार नियमित दो कप ग्रीन टी का सेवन करना स्‍वास्‍थ्‍य के लिए लाभकारी हो सकता है। नेशनल कैंसर इंस्‍टीट्यूड ऑफ अमरीका की एक स्‍टडी के अनुसार ग्रीन टी में पाए जाने वाले पॉलीफिनॉल्‍स ट्यूमर की ग्रोथ को कम करने के साथ ही अल्‍टा वॉयलेट किरणों से भी शरीर की रक्षा करते हैं। नियमित ग्रीन टी के सेवन से कैंसर की रेट कम हो जाती है। कुछ अध्‍ययनों से सामने आया है कि ग्रीन टी ओवेरियन, ब्रेस्‍ट, लंग्‍स, स्किन आदि कैंसर से राहत देती है।

हार्ट हेल्‍दी है ग्रीन टी

जर्नल ऑफ अमरीकन मेडिकल एसोसिएशन के अनुसार नियमित ग्रीन टी का सेवन करने से कार्डियोवैस्‍कुलर डिजीज का खतरा कम हो जाता है। अध्‍ययन के अनुसार 11 सालों तक 40 से 79 उम्र तक के 49 हजार लोगों को शामिल किया गया। ऐसे लोग, जिन्‍होंने नियमित 5 कप ग्रीन टी का सेवन किया, उनमें एक कम ग्रीन टी का सेवन करने वाले लोगों की तुलना में कार्डियोवैस्‍कुलर डिजीज का खतरा कम होता है। ग्रीन टी में कैटेचीन, पॉलीफिनॉलिक कंपाउंड होते हैं, जो शरीर को कई तरह से फायदा देते हैं। इस तरह कॉडियोवैस्‍कुलर सिस्‍टम को सपोर्ट मिलता है एवं दिल संबंधी बीमारियों का खतरा कम हो जाता है।

बढेगी रोग-प्रतिरोधक क्षमता

ग्रीन टी में पॉलीफिनॉल्‍स, फ्लेवनॉइड्स, विटामिन सी होता है, जो इम्‍यूनिटी को बूस्‍ट करने का काम करता है। यह शरीर को आंतकि मजबूती देकर कोल्‍ड, फ्लू और कई तरह के वायरस इंफेक्‍शन से लड़ने की क्षमता देता है। एक अन्‍य साइंटिफिक रिसर्च के अनुसार ग्रीन टी में पाए जाने वाले एंटी ऑक्‍सीडेंट्स शरीर में फैट को ऊर्जा के रूप में बर्न करते हैं, ताकि मांसपेशियों को मजबूत बनाया जा सके।


Search Keywords: Green Tea Benefits in Hindi for Skin, Hair, Men, Women, Diabetes, Weight Loss, Advantages of Green Tea in Hindi





Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!