Currently browsing:- Poems in Hindi:


माँ क्या हैं ये तो आज तक!!

माँ क्या हैं ये तो आज तक कोई भी नहीं बता पाया हैं… हज़ारों जतन करके भी इस छोटे से लब्ज़ की अहमियत कोई लब्ज़ों में नहीं बयान कर पाया हैं.. प्यार और ममता…

उसकी क़ातिलाना नज़र के – यशु जान

उसकी क़ातिलाना नज़र के उसकी क़ातिलाना नज़र के शिकार बन गए हैं, इंतजार करते करते ख़ुद इंतजार बन गए हैं उन्होंने मांग की थी चाँद तोड़कर ज़मीं पे लाने की, आज सितारों की नज़र…

Karva Chauth Poems Kavita By Prabha Parik in Hindi

करवा चौथ – कविता!

सुन सखी एक बात सुनाऊॅं आज मैं करवा चौथ मनाऊँ मैंने घर संसार बसाया, एक घरौंदा प्‍यारा पाया पिया ने मुझको ये सुझाया एक सुंदर संगीत सुनाया मै भी करवा चौथ करूंगा तेरे प्‍यार…

Maa Ki Mamta Mother Love Hindi Poem

माँ की ममता है सबसे न्‍यारी!! (कविता)

!!! माँ !!! माँ की ममता है सबसे न्‍यारी, है हम सबकी माता प्‍यारी।। हम सब का ख्‍याल है रखती, इसीलिए प्रथम गुरू कहलाती हमेशा अच्‍छी बातें बातें बताती सद् मार्ग का राह दिखाती…

Guzra Hua Waqt Wapas Nahi Aata Hindi Kavita

गुजरा हुआ वक़्त फिर लौटकर नहीं आयेगा! (कविता)

गुजरा हुआ वक़्त फिर लौटकर नही आयेगा, जो यादे हे दिलो में छुपालो, बिता हुआ वक़्त इन्हें उड़ा ले जायेगा, हर वक़्त को जियो अपना समझ कर, हर हँसीन ख्वाब देखो भले ही सपना…

Best Friend Poem Dosti Par Kavita in Hindi Language

दोस्ती कहने में एक शब्दः है! (कविता)

दोस्ती कहने में एक शब्दः है.. पर हर इंसान का सबसे करीबी रिश्ता है… दोस्ती सिर्फ शब्दः नहीं जिसका मै अर्थ बता सकू… दोस्ती कोई चीज़ नहीं जिसे मै दिखा सकू… दोस्ती है दिल…

Prakriti Humein Deti Hai Sab Kuch Hindi Kavita

प्रकृति हमें देती है सब कुछ… (कविता)

प्रकृति हमे देती है सब कुछ, हम भी तो कुछ देना सीखे… सूरज हमे रौशनी देता, हवा नया जीवन देती है… भूख मिटने को हम सबकी, धरती माँ अन्न देती है… पथिको को ताप्ती…

error: Content is protected !!