औषधीय गुणों से भरा है! कड़वा करेला!!

करेला का नाम सुनते ही दिमाग में कड़वेपन का ख्याल आ जाता है। हरे या गहरे हरे रंग की इस सब्जी का स्वाद भले ही मन को न भाए पर इसमें और जरूरी विटामिन पाए जाते हैं। अन्य सब्जी या फल की तुलना में करेला में ज्यादा औषधीय गुण हैं। करेले में प्रचूर मात्रा में विटामिन A, B और C पाए जाते हैं। करेले में प्रोटीन, कैल्षियम, कार्बोहाइड्रेट, फास्फोरस, ढेरों एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन है, इसके अलावा कैरोटीन, बीटाकैरोटीन, लूटीन, आइरन, जिंक, पोटैशियम, मैग्नीशियम और मैगनीज जैसे फ्लावोन्वाइड भी पाए जाते हैं। जो कि कफ की शिकायत दूर करता है। पाचन शक्ति बढ़ाता है, जिसके कारण भूख बढ़ती है। करेला ठंडा है, यह गर्मी से पैदा हुई बीमारियों का उपचार करता है। करेले का सेवन हम कई रूपों में कर सकते हैं। हम चाहें तो इसका जूस पी सकते हैं, अचार बना सकते हैं या फिर इसका इस्तेमाल सब्जी के रूप में कर सकते हैं।

हम आपको बताते है कि करेला किन-किन बीमारियों के लिये फायेदमंद होता है।

  1. दमा के लिएः- दमा होने पर बिना मसाले की छौंकी हुई करेले की सब्जी खाना फायदेमंद है।
  2. लकवा के लिएः- लकवे के मरीजों के लिए करेला बहुत फायदेंमंद है। उन्हें कच्चा करेला खाना चाहिए
  3. उल्टी-दस्त के लिएः- उल्टी -दस्त या हैजा होने पर करेले के रस में थोड़ा पानी और काला नमक मिलाकर सेवन करने से राहत मिलती है।
  4. लीवर के लिएः- लीवर संबंधित बीमारियों के लिए भी करेला रामबाण औषधि है। आप हर दिन एक ग्लास करेले का जूस पीएं। अगर आप एक हफ्ते तक ऐसा करेंगे तो परिणाम खुद नजर आने लगेंगे।
  5. इम्यून सिस्टम मजबूत करे:- अगर आप खुद को इंफेक्शन से बचाना चाहते हैं तो करेले या करेले की पत्ती को पानी में उबाल कर इसका सेवन करें। इससे आपकी इम्यूनिटी को भी फायदा पहुंचेगा।
  6. मुहांसे मिटाए करेले के सेवन से:- चेहरे के दाग-धब्बों, मुहांसों और स्किन इंफेक्शन से भी छुटकारा मिलता है। हर दिन खाली पेट में करेले के जूस को नींबू के साथ मिलाकर छह महीने तक पीएं। या फिर आप इसे तब तक जारी रखें जब तक कि आपको फायदा न पहुंचने लगे।
  7. जलोदर रोग के लिएः- जलोदर रोग होने पर आधा कप पानी में दो चम्मच करेले का रस मिलाकर रोजाना तीन-चार बार सेवन करें।
  8. पीलिया के लिएः- पीलिया के मरीजों को पानी में करेला पीसकर खाना चाहिए।
  9. शुगर के लिएः- करेला खाने से शुगर का स्तर नियंत्रित रहता है। यह खून साफ करता है। करेला हिमोग्लोबिन बढ़ता है।
  10. बवासीर के लिएः- बवासीर रोगी एक चम्मच करेले के रस में आधा चम्मच शक्कर मिलाकर एक महीने तक सेवन करें, फायदा मिलेगा।

English Keywords: Health Benefits of Bitter Gourd in Hindi, Karele Ke Fayde in Hindi, Karela Benefits For Dama, Lakva, Ulti Dast, Liver, Pimple, Piles, Piliya in Hindi




Related...



Leave a Reply