माँ की ममता है सबसे न्‍यारी!! (कविता)

!!! माँ !!!

माँ की ममता है सबसे न्‍यारी,
है हम सबकी माता प्‍यारी।।

हम सब का ख्‍याल है रखती,
इसीलिए प्रथम गुरू कहलाती
हमेशा अच्‍छी बातें बातें बताती
सद् मार्ग का राह दिखाती



कभी ना आँसू आने देती
नौ महीने तक पेट में रखती
चुप-चाप सब दर्द है सहती
कभी ना रूकती कभी ना थकती
बस अपनी ममता बिखेरते जाती
दु:ख में हमेशा हम माँ को याद करते
और माँ ही हमें रास्‍ता है दिखाती

भूखे पेट अपने वो रहकर
बच्‍चे का हर कष्‍ट दूर करती
और बच्‍चे की इच्‍छाओं की खातिर
अपनी खुशी का दमन वो करती
आओ हम सब माँ के गुण गाएं
उनके चरणों में शीष नवाँएं
माँ की ममता का कोई आकार नहीं
उनके बिना दुनिया का आधार नहीं…

लेखक: रोहित दीक्षित,


English Summery: Maa ki Mamta Hai Sabse Niyari Hindi Poem, Mother Love Poems in Hindi, Best Collection of Hindi Kavitayen Poems on Maa / Mother in Hindi





One Comment

  • tilak pradhan

    Aapi ki yah poem sunkar bahut aacha laga ase hi much poem aap share karte raheye ga… Have a nice day…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!