वजन न बढ़े इसलिए उबले आलू की सब्‍जी खाएं

लॉक डाउन से लोग घरों में ही हैं। हैल्‍थ एक्‍सपर्ट्स का मानना है कि इससे मोटापा बढ़ सकता है। घर में रहने से तनाव बढ़ता है जिससे लोग ज्‍यादा खाते हैं और व्‍यायाम नहीं करते। इससे बचने के लिए खानपान की आदतों में बदलाव जरूरी है।

विशेषज्ञों की राय है कि शारीरिक गतिविधि में कमी के कारण एक वयस्‍क प्रतिदनि करीब 400 से कम कैलोरी ही बर्न कर पाता है। जबकि लगभग 1500 कैलोरी रोजाना लेता है। ऐसे में कैलोरी बर्न नहीं होने पर मोटापे का खतरा बढ़ जाता है। मोटापा बढ़ने से दूसरी लाइफ स्‍टाइल डिसऑर्डर जैसी डायबिटीज, ब्‍लड प्रेशर और हृदय से जुड़े रोगों का खतरा कई गुना बढ़ जाता है। डाइट में बदलाव कर इससे बचाव किया जा सकता है।

उबले चावल ही खाएं।
डाइट में आलू, चावल-चीनी और मीठी चीजें का परहेज करें। लेकिन आजकल सब्जियां नहीं मिल पा रही है। इसलिए अधिकतर घरों में आलू की सब्‍जी बन रही है क्‍योंकि आलू को लंबे समय जक स्‍टोर भी किया जा सकता है। आलू को हमेशा उबालकर ही उपयोग में लें। उबालने के बाद इसमें से स्‍टार्च की मात्रा काफी कम हो जाती है। इसमें कार्ब्‍स कम हो जाता है और मोटपा नहीं बढ़ता है। आलू को सीधे छौंक और फ्राई कर खाने से बचें।

एक रोटी कम खाएं।
घर में रहते हुए हमेशा भूख से एक रोटी कम खानी चाहिए। इस समय डाइट कंट्रोल करना ठीक बात नहीं है क्‍योंकि अभी इम्‍युनिटी बढ़ाने की भी जरूरत है। डायटिंग से इम्‍युनिटी पर असर पड़ सकता है। डायटिंग के कारण शरीर को कैलोरी की पूर्ति के लिए प्रोटीन पर निर्भर होना पड़ेगा जोकि इम्‍युनिटी को बढ़ाने में उपयोगी होता है। कैलोरी को कम करने के लिए सब्जियों औश्र फलों की मात्रा को बढ़ा सकते हैं। इसमें एंटीऑक्‍सीडेंट्स और मिनरल्‍स अधिक होते है। इनसे भी इम्‍युनिटी बढ़ती है। आजकल फल ज्‍यादा उपलब्‍ध नहीं है तो सब्जियां अधिक खाएं। आटे को बिना छाने यानी चोकरयुक्‍त रोटी खाएं। इन सबमें फाइबर होता है। साबुत अनाज ज्‍यादा खाएं और जितना हो सके पानी पीएं।

सलाद व फाइबर ज्‍यादा लें।
एक्‍सट्रा कैलोरी को नियत्रित करने के लिए जरूरी है कि खाने में सलाद और फाइबर डाइट अधिक लें। सलाद में कैलोरी बहुत कम होती है। इससे मोटापे की आशंका नहीं रहती। इसलिए खाने से थोड़ा पहले भरपूर सलाद खाएं। इससे खाते समय रोटी-चावल की मात्रा अपने आप की हम हो जाएगी। जिससे शरीर में कार्ब्‍स और फैट की मात्रा कम पहुंचता है। कार्ब्‍स और फैट से ही मोटापे का खतरा अधिक रहता है। खाने के समय पर भी ध्‍यान देना चाहिए। आजकल कुछ लोगों की ऐसी आदत देखने को मिल रही है कि वे देर रात में डिनर और सुबह 10-11 बजे नाश्‍ता ले रहे हैं। आप ऐसा न करें।

मेधवी गौतम
डायटीशिन


Coronavirus Lockdown Diet Plan in Hindi, Weight Loss Diet Plan in hindi, Aloo Ki Sabji Khaye Wajan Ghataye, Fitness Tips in Hindi

Source : Patrika News Paper Jabalpur, Sun 12 Apr 20



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *